loading...

Poll: क्या संस्कृत भाषा का भी हिंदी की तरह प्रचार प्रसार करना चाहिए ...?

Page 2 of 8 प्रथमप्रथम 1234 ... LastLast
Results 11 to 20 of 80

Thread: संस्कृत जाने - भारतीय विज्ञान को जाने

  1. #11
    सदस्य Manavji's Avatar
    Join Date
    May 2012
    Location
    देव भूमि
    आयु
    29
    प्रविष्टियाँ
    462
    Rep Power
    5

    Re: संस्कृत भाषा - एक बुझता दिया !

    loading...
    अपने देश में संस्कृत भाषा वैदिक भाषा बनकर सिमट गयी है। इसे विद्वानों एवं विशेषज्ञों कि भाषा मानकर इससे परहेज किया जाता है। किसी अन्य भाषा कि तुलना में इस भाषा को महत्त्व ही नहीं दिया गया, क्योंकि वर्तमान व्यावसायिक युग में उस भाषा को ही वरीयता दी जाती है जिसका व्यासायिक मूल्य सर्वोपरि होता है। कर्मकांड के क्षेत्र में इसे महत्त्व तो मिला है, परन्तु कर्मकांड कि वैज्ञानिकता का लोप हो जाने से इसे अन्धविश्वास मानकर संतोष कर लिया जाता है और इसका दुष्प्रभाव संस्कृत पर पड़ता है। यदि इसके महत्त्व को समझकर इसका प्रयोग किया जाये तो इसके अगणित लाभ हो सकते हैं।
    [Only Registered and Activated Users Can See Links. Click Here To Register...]
    :right: [Only Registered and Activated Users Can See Links. Click Here To Register...]

  2. #12
    सदस्य Manavji's Avatar
    Join Date
    May 2012
    Location
    देव भूमि
    आयु
    29
    प्रविष्टियाँ
    462
    Rep Power
    5

    Re: संस्कृत भाषा - एक बुझता दिया !

    संस्कृत की भाषा विशिष्टता को समझकर लन्दन के बीच बनी एक पाठशाला ने अपने जूनियर डिविजन में इसकी शिक्षा को अनिवार्य बना दिया है। श्री आदित्य घोष ने सन्डे हिंदुस्तान टाइम्स ( १० फरवरी, २००८ ) में इससे सम्बंधित एक लेख प्रकाशित किया था। उनके अनुसार लन्दन की उपर्युक्त पाठशाला के अधिकारीयों की यह मान्यता है कि संस्कृत का ज्ञान होने से अन्य भाषाओँ को सिखने व समझने की शक्ति में अभिवृद्धि होती है। इसको सिखने से गणित व विज्ञान को समझने में आसानी होती है। Saint James Independent school नामक यह विद्यालय लन्दन के कैनिंगस्टन ओलंपिया क्षेत्र की डेसर्स स्ट्रीट में अवस्थित है। पाँच से दस वर्ष तक की आयु के इसके अधिकांश छात्र काकेशियन है। इस विद्यालय की आरंभिक कक्षाओं में संस्कृत अनिवार्य विषय के रूप में सम्मिलित है।
    [Only Registered and Activated Users Can See Links. Click Here To Register...]
    :right: [Only Registered and Activated Users Can See Links. Click Here To Register...]

  3. #13
    सदस्य Manavji's Avatar
    Join Date
    May 2012
    Location
    देव भूमि
    आयु
    29
    प्रविष्टियाँ
    462
    Rep Power
    5

    Re: संस्कृत भाषा - एक बुझता दिया !

    इस विद्यालय के बच्चे अपनी पाठ्य पुस्तक के रुप में रामायण को पढ़ते हैं। बोर्ड पर सुन्दर देवनागरी लिपि के अक्षर शोभायमान होते हैं। बच्चे अपने शिक्षकों से संस्कृत में प्रश्नोत्तरी करते हैं और अधिकतर समय संस्कृत में ही वार्तालाप करते हैं। कक्षा के उपरांत समवेत स्वर में श्लोकों का पाठ भी करते हैं। दृश्य ऐसा होता है मानो यह पाठशाला वाराणसी एवं हरिद्वार के कसीस स्थान पर अवस्थित हो और वहां पर किसी कर्मकांड का पाठ चल रहा हो। इस पाठशाला के शिक्षकों ने अनेक शोध-परीक्षण करने के पश्चात् अपने निष्कर्ष में पाया कि संस्कृत का ज्ञान बच्चों के सर्वांगीण विकास में सहायक होता है। संस्कृत जानने वाला छात्र अन्य भाषाओँ के साथ अन्य विषय भी शीघ्रता से सीख जाता है। यह निष्कर्ष उस विद्यालय के विगत बारह वर्ष के अनुभव से प्राप्त हुआ है।
    [Only Registered and Activated Users Can See Links. Click Here To Register...]
    :right: [Only Registered and Activated Users Can See Links. Click Here To Register...]

  4. #14
    सदस्य Manavji's Avatar
    Join Date
    May 2012
    Location
    देव भूमि
    आयु
    29
    प्रविष्टियाँ
    462
    Rep Power
    5

    Re: संस्कृत भाषा - एक बुझता दिया !

    Oxford University से संस्कृत में Ph.D करने वाले डॉक्टर वारविक जोसफ उपर्युक्त विद्यालय के संस्कृत विभाग के अध्यक्ष हैं। उनके अथक लगन ने संस्कृत भाषा को इस विद्यालय के ८०० विद्यार्थियों के जीवन का अंग बना दिया है। डॉक्टर जोसफ के अनुसार संस्कृत विश्व की सर्वाधिक पूर्ण, परिमार्जित एवं तर्कसंगत भाषा है। यह एकमात्र ऐसी भासा है जिसका नाम उसे बोलने वालों के नाम पर आधारित नहीं है। वरन संस्कृत शब्द का अर्थ ही है "पूर्ण भाषा"। इस विद्यालय के प्रधानाध्यापक पॉल मौस का कहना है कि संस्कृत अधिकांश यूरोपीय और भारतीय भाषाओँ की जननी है। वे संस्कृत से अत्यधिक प्रभावित है। प्रधानाचार्य ने बताया कि प्रारंभ में संस्कृत को अपने पाठ्यक्रम का अंग बनाने के लिए बड़ी चुनौती झेलनी पड़ी थी।
    [Only Registered and Activated Users Can See Links. Click Here To Register...]
    :right: [Only Registered and Activated Users Can See Links. Click Here To Register...]

  5. #15
    सदस्य Manavji's Avatar
    Join Date
    May 2012
    Location
    देव भूमि
    आयु
    29
    प्रविष्टियाँ
    462
    Rep Power
    5

    Re: संस्कृत भाषा - एक बुझता दिया !

    प्रधानाचार्य मौस ने अपने दीर्घकाल के अनुभव के आधार पर बताया कि संस्कृत सिखने से अन्य लाभ भी हैं। देवनागरी लिपि लिखने से तथा संस्कृत बोलने से बच्चों की जिह्वा तथा उँगलियों का कडापन समाप्त हो जाता है और उनमें लचीलापन आ जाता है। यूरोपीय भाषाएँ बोलने से और लिखने से जिह्वा एवं उँगलियों के कुछ भाग सक्रिय नहीं होते है। जबकि संस्कृत के प्रयोग से इन अंगों के अधिक भाग सक्रिय होते हैं। संस्कृत अपनी विशिष्ट ध्वन्यात्मकता के कारण प्रमस्तिष्कीय (Cerebral) क्षमता में वृद्धि करती है। इससे सिखने की क्षमता, स्मरंशक्ति, निर्णयक्षमता में आश्चर्यजनक अभिवृद्धि होती है। संभवतः यही कारण है कि पहले बच्चों का विद्यारम्भ संस्कार कराया जाता था और उसमें मंत्र लेखन के साथ बच्चे को जप करने के लिए भी प्रोत्साहित किया जाता था। संस्कृत से छात्रों की गतिदायक कुशलता (Motor Skills) भी विकसित होती है।
    [Only Registered and Activated Users Can See Links. Click Here To Register...]
    :right: [Only Registered and Activated Users Can See Links. Click Here To Register...]

  6. #16
    सदस्य Manavji's Avatar
    Join Date
    May 2012
    Location
    देव भूमि
    आयु
    29
    प्रविष्टियाँ
    462
    Rep Power
    5

    Re: संस्कृत भाषा - एक बुझता दिया !

    आज आवश्यकता है संस्कृत के विभिन्न आयामों पर फिर से नवीन ढंग से अनुसन्धान करने की, इसके प्रति जनमानस में जागृति लाने की;
    क्योंकि संस्कृत हमारी संस्कृति का प्रतीक है। संस्कृति की रक्षा एवं विकास के लिए संस्कृत को महत्त्व प्रदान करना आवश्यक है।
    इस विरासत को हमें पुनः शिरोधार्य करना होगा तभी इसका विकास एवं उत्थान संभव है।
    [Only Registered and Activated Users Can See Links. Click Here To Register...]
    :right: [Only Registered and Activated Users Can See Links. Click Here To Register...]

  7. #17
    सदस्य Manavji's Avatar
    Join Date
    May 2012
    Location
    देव भूमि
    आयु
    29
    प्रविष्टियाँ
    462
    Rep Power
    5

    Re: संस्कृत भाषा - एक बुझता दिया !

    तो दोस्तों अभी मेरी तरफ से इतना ही ! अब बारी आपकी है मेरे प्रयास के बारे में बताने की और संस्कृत भाषा के बारे में अपना ज्ञान बाटने की !
    में आशा करता हूँ के हम सब ने मिलकर जिस तरह हिंदी भाषा को सम्मान दिलाया है उसी तरह हम एक बार फिर मिलकर इस जननी भाषा को एक जिवंत रूप देंगे !
    धन्यवाद !
    [Only Registered and Activated Users Can See Links. Click Here To Register...]
    :right: [Only Registered and Activated Users Can See Links. Click Here To Register...]

  8. #18
    वरिष्ठ सदस्य munnuji11's Avatar
    Join Date
    May 2011
    Location
    सांस्कृतिक नगरी अल्मोड़ा, उत्तराखण्ड
    आयु
    43
    प्रविष्टियाँ
    799
    Rep Power
    8

    Re: संस्कृत भाषा - एक बुझता दिया !

    संस्कृत विषयक इस जीवंत चर्चा हेतु आपक धन्यवाद मित्र। पुन: इस भाषा को बुझता दिया न कह कर यदि
    संस्कृत भाषा - भविष्य का दीपक !

    नाम दिया जाता तो उत्तम होता। ऐसा मेरा अभिमत है, अन्यथा न लेंगे …………
    चरैवेति चरैवेति - चलते रहो ! चलते रहो !!

  9. #19
    सदस्य Manavji's Avatar
    Join Date
    May 2012
    Location
    देव भूमि
    आयु
    29
    प्रविष्टियाँ
    462
    Rep Power
    5

    Re: संस्कृत भाषा - एक बुझता दिया !

    मित्र में आपकी बात को समझता हु ! परन्तु जिस हिसाब से हमारा समाज पश्चिमी भाषाओ की तरफ अपना रुझान दिखा रहा है ! उस हिसाब से मुझे तो नहीं लगता के ये भाषा भविष्य का दीपक बनेगी !
    असल जिन्दगी में हम हिंदी को ही महत्व नहीं देते ( ये सब पर लागु नहीं है हालांकि हमारे देश में बहुत से हिंदी प्रेमी हैं ! पर अधिकतर और ज्यादातर सहरो में ऐसा ही देखा जाता है) तो संस्कृत का तो सवाल ही पैदा नहीं होता !
    भले ही किसी राज्य ने इसे द्वितीय राज भाषा का दर्जा दे दिया हो परन्तु स्थिति बिलकुल अलग है ! तो हमे सबसे पहले इस भाषा को जानना है ! समझना है ! और इसे जिवंत रखना है!
    आपका सूत्र भ्रमण और अपने विचार रखने के लिए तहेदिल से धन्यवाद !

    Quote Originally Posted by munnuji11 View Post
    संस्कृत विषयक इस जीवंत चर्चा हेतु आपक धन्यवाद मित्र। पुन: इस भाषा को बुझता दिया न कह कर यदि
    संस्कृत भाषा - भविष्य का दीपक !

    नाम दिया जाता तो उत्तम होता। ऐसा मेरा अभिमत है, अन्यथा न लेंगे …………
    [Only Registered and Activated Users Can See Links. Click Here To Register...]
    :right: [Only Registered and Activated Users Can See Links. Click Here To Register...]

  10. #20
    सदस्य Manavji's Avatar
    Join Date
    May 2012
    Location
    देव भूमि
    आयु
    29
    प्रविष्टियाँ
    462
    Rep Power
    5

    Re: संस्कृत भाषा - एक बुझता दिया !

    दोस्तों इस मंच के सभी बुद्धिजीवियो का आज संस्कृत भाषा बड़ी बेसब्री से इन्तजार कर रही है !
    अब आपके ही ऊपर है के आप इसे बचाते हैं या इसे इसके हाल पर छोड़ते हैं !
    [Only Registered and Activated Users Can See Links. Click Here To Register...]
    :right: [Only Registered and Activated Users Can See Links. Click Here To Register...]

Page 2 of 8 प्रथमप्रथम 1234 ... LastLast

Thread Information

Users Browsing this Thread

There are currently 1 users browsing this thread. (0 members and 1 guests)

Similar Threads

  1. बूझो तो जाने (पहेलियाँ)
    By Black Pearl in forum आओ समय बिताएँ
    Replies: 413
    अन्तिम प्रविष्टि: 21-10-2012, 01:13 AM
  2. Replies: 150
    अन्तिम प्रविष्टि: 31-12-2011, 07:17 PM
  3. चित्र की views केसे जाने
    By Chandrshekhar in forum मुझे कुछ कहना है
    Replies: 124
    अन्तिम प्रविष्टि: 29-12-2011, 05:10 PM
  4. आइये हिप्नोटिजम के बारे में जाने !!!
    By "Hamsafar+" in forum साहित्य एवम् ज्ञान की बातें
    Replies: 23
    अन्तिम प्रविष्टि: 08-12-2011, 04:32 PM
  5. कंप्यूटर के कांफिग्रेसन जाने
    By Nisha.Patel in forum टिप्स तथा ट्रिक्स
    Replies: 9
    अन्तिम प्रविष्टि: 18-06-2011, 05:36 AM

Tags for this Thread

Bookmarks

Posting Permissions

  • You may not post new threads
  • You may not post replies
  • You may not post attachments
  • You may not edit your posts
  •