Page 1 of 25 12311 ... LastLast
Results 1 to 10 of 246

Thread: बेतबाज़ी - शेरो शायरी की अन्ताक्षरी !

  1. #1
    कर्मठ सदस्य vedant thakur's Avatar
    Join Date
    Jun 2009
    Posts
    1,641

    बेतबाज़ी - शेरो शायरी की अन्ताक्षरी !

    दोस्तों आज तक आपने फ़िल्मी गानों की अन्ताक्षरी तो देखि सुनी होगी लेकिन आज हम शुरू कर रहे हैं शेरो शायरी की अन्ताक्षरी जिसे उर्दू में बेतबाजी कहते हैं !इसमें आपको दिए गए शेर के अंतिम अक्षर से आरम्भ होने वाला शेर प्रस्तुत करना होगा !

    पहला शेर मेरी तरफ से -

    यूँ तो जब्त बहुत है हम में लेकिन
    आँख तक आये आंसू पीना मुश्किल होता है !
    Last edited by vedant thakur; 29-05-2013 at 06:46 PM.
    मेरे चेहरे से मेरा दर्द ना पढ़ पाओगे
    मेरी आदत है हर इक बात पे हंसते रहना

  2. #2
    कांस्य सदस्य satya_anveshi's Avatar
    Join Date
    Feb 2011
    Location
    किताबें
    Posts
    13,665

    Re: बेतबाज़ी -शेरी शायरी की अन्ताक्षरी !

    मुझे शेर-ओ-शायरी का बिल्कुल भी ज्ञान नहीं है अतः जैसा भी आता है बिस्मिल्लाह करता हूँ................

    हंगामा है क्यों बरपा, थोड़ी सी जो पी ली है
    डाका तो नहीं डाला चोरी तो नहीं की है..
    - Sherly

  3. #3
    चित्रपट विशेषज्ञ fullmoon's Avatar
    Join Date
    Jul 2009
    Location
    कानपुर
    Posts
    9,754

    Re: बेतबाज़ी -शेरी शायरी की अन्ताक्षरी !

    Quote Originally Posted by vedant thakur View Post
    दोस्तों आज तक आपने फ़िल्मी गानों की अन्ताक्षरी तो देखि सुनी होगी लेकिन आज हम शुरू कर रहे हैं शेरो शायरी की अन्ताक्षरी जिसे उर्दू में बेतबाजी कहते हैं !इसमें आपको दिए गए शेर के अंतिम शब्द से आरम्भ होने वाला शेर प्रस्तुत करना होगा !

    पहला शेर मेरी तरफ से -

    यूँ तो जब्त बहुत है हम में लेकिन
    आँख तक आये आंसू पीना मुश्किल होता है !
    इसके लिए तो मुझे "महान शेरो के चंद शेर" वाले सूत्र से नक़ल मारनी पड़ेगी
    पर ये सूत्र बहुत कठिन है
    ऐसे शेर ढूँढना मुश्किल लग रहा है
    अच्छे दिनों में बुरी बात,कि वो एक दिन खत्म हो जाते हैं,

    बुरे दिनों में अच्छी बात,कि वो भी एक दिन खत्म हो जाते हैं.....


  4. #4
    कर्मठ सदस्य vedant thakur's Avatar
    Join Date
    Jun 2009
    Posts
    1,641

    Re: बेतबाज़ी -शेरी शायरी की अन्ताक्षरी !

    Quote Originally Posted by ben ten View Post
    मुझे शेर-ओ-शायरी का बिल्कुल भी ज्ञान नहीं है अतः जैसा भी आता है बिस्मिल्लाह करता हूँ................

    हंगामा है क्यों बरपा, थोड़ी सी जो पी ली है
    डाका तो नहीं डाला चोरी तो नहीं की है..
    है मेरे प्यार की शिद्दत पे अगर शक तुझको
    ला मेरे सामने बहता हुआ दरिया रख दे !
    मेरे चेहरे से मेरा दर्द ना पढ़ पाओगे
    मेरी आदत है हर इक बात पे हंसते रहना

  5. #5
    चित्रपट विशेषज्ञ fullmoon's Avatar
    Join Date
    Jul 2009
    Location
    कानपुर
    Posts
    9,754

    Re: बेतबाज़ी -शेरी शायरी की अन्ताक्षरी !

    Quote Originally Posted by vedant thakur View Post
    है मेरे प्यार की शिद्दत पे अगर शक तुझको
    ला मेरे सामने बहता हुआ दरिया रख दे !
    इस बेंतबाज़ी में आखिरी अक्षर से शेर कहा जाता है
    या कोई और नियम होता है
    अच्छे दिनों में बुरी बात,कि वो एक दिन खत्म हो जाते हैं,

    बुरे दिनों में अच्छी बात,कि वो भी एक दिन खत्म हो जाते हैं.....


  6. #6
    कर्मठ सदस्य vedant thakur's Avatar
    Join Date
    Jun 2009
    Posts
    1,641

    Re: बेतबाज़ी -शेरी शायरी की अन्ताक्षरी !

    Quote Originally Posted by fullmoon View Post
    इस बेंतबाज़ी में आखिरी अक्षर से शेर कहा जाता है
    या कोई और नियम होता है
    जी हाँ आखरी आक्षे से ही कहा जाता है बिलकुल वैसे ही जैसी गानों की अन्ताक्षरी में होता है !अब आपको द अक्षर से शेर लिखना है !
    आप बेशक अपने उस सूत्र की सहायता लीजिए ,आखिर वो तो शेरो शायरी का महासागर बन चूका है !आपका सूत्र नन्हा पौधा था अब छाया देने वाला विशालकाय वृक्ष बन चूका है !
    इस सूत्र का एक नियम मैं अपनी और से बना रहा हूँ ,यदि किसी दिन एक भी सदस्य ने अंतिम शब्द से शेर न कहा तो मैं खुद उस शब्द से आरम्भ होने वाला शेर लिख डालूँगा !
    मेरे चेहरे से मेरा दर्द ना पढ़ पाओगे
    मेरी आदत है हर इक बात पे हंसते रहना

  7. #7
    कांस्य सदस्य satya_anveshi's Avatar
    Join Date
    Feb 2011
    Location
    किताबें
    Posts
    13,665

    Re: बेतबाज़ी -शेरी शायरी की अन्ताक्षरी !

    हा हा हा हा........ अच्छा नियम है
    - Sherly

  8. #8
    कांस्य सदस्य satya_anveshi's Avatar
    Join Date
    Feb 2011
    Location
    किताबें
    Posts
    13,665

    Re: बेतबाज़ी -शेरी शायरी की अन्ताक्षरी !

    दिल धडकने का सबब याद आया
    वो तेरी याद थी, अब याद आया
    :cool:
    - Sherly

  9. #9
    कर्मठ सदस्य vedant thakur's Avatar
    Join Date
    Jun 2009
    Posts
    1,641

    Re: बेतबाज़ी -शेरी शायरी की अन्ताक्षरी !

    Quote Originally Posted by ben ten View Post
    दिल धडकने का सबब याद आया
    वो तेरी याद थी, अब याद आया
    :cool:
    अईसा क्या ?...........इतनी जल्दी माल चोरी हो गया ............

    ये न थी हमारी किस्मत के विसाले ऐ यार होता
    अगर और जीते रहते यही इंतज़ार होता !!!
    मेरे चेहरे से मेरा दर्द ना पढ़ पाओगे
    मेरी आदत है हर इक बात पे हंसते रहना

  10. #10
    कांस्य सदस्य Munneraja's Avatar
    Join Date
    May 2009
    Posts
    5,835

    Re: बेतबाज़ी -शेरी शायरी की अन्ताक्षरी !

    ता उम्र इंतजार करते रहे हम उनकी
    और वो किसी और की बन गई
    !! जो बात हम खुद के लिए सुन नहीं सकते हैं वो हम किसी और को कह कैसे सकते हैं !!

Page 1 of 25 12311 ... LastLast

Posting Permissions

  • You may not post new threads
  • You may not post replies
  • You may not post attachments
  • You may not edit your posts
  •