Page 5450 of 5452 प्रथमप्रथम ... 4450495053505400544054485449545054515452 LastLast
Results 54,491 to 54,500 of 54513

Thread: चौपाल चर्चा

  1. #54491
    कर्मठ सदस्य superidiotonline's Avatar
    Join Date
    May 2017
    प्रविष्टियाँ
    4,954
    Rep Power
    7

  2. #54492
    कर्मठ सदस्य superidiotonline's Avatar
    Join Date
    May 2017
    प्रविष्टियाँ
    4,954
    Rep Power
    7


    हमारे पास एक-दो नहीं, तीन मेट्रो रेल स्मार्ट कार्ड हैं- दिल्ली, चेन्नई और मुम्बई।

    क्या हमारे जैसे विशिष्ट लोगों के लिए भविष्य में 'नेशनल मेट्रोमैनिक्स' जैसी भयंकर गन्दी गाली का ईजाद किया जाएगा?

  3. #54493
    कर्मठ सदस्य superidiotonline's Avatar
    Join Date
    May 2017
    प्रविष्टियाँ
    4,954
    Rep Power
    7
    मुम्बई की बारिश को देखते हुए दूसरे दिन बारिश के खिलाफ़ उबेर को हथियार बनाया गया। हमारे साथ 'कार में सत्संग' जैसी कोई नौटंकी भी नहीं हुई और उबेर के 'चलते-फिरते छाते' के सामने बारिश की एक न चली!


  4. #54494
    कर्मठ सदस्य superidiotonline's Avatar
    Join Date
    May 2017
    प्रविष्टियाँ
    4,954
    Rep Power
    7
    मुम्बई की लीचड़ बारिश में भी सिर्फ़ आधे घण्टे में शानदार होम डिलीवरी हुई बेहरूज़ रॉयल बिरयानी की और बिरयानी तो जानदार थी ही हमेशा की तरह!


  5. #54495
    कर्मठ सदस्य superidiotonline's Avatar
    Join Date
    May 2017
    प्रविष्टियाँ
    4,954
    Rep Power
    7
    सूचना- कोराइटर्स का समुचित सहयोग न मिलने तथा उल्टे-सीधे दृष्य लिखकर दिए जाने के कारण हज़ार करोड़ की कहानी को पूरी तरह से गोड़ दिए जाने के भय से हमने पूरी स्क्रिप्ट को तत्काल प्रभाव से पूरी तरह अपने कंट्रोल में ले लिया है। अब कोराइटर्स द्वारा दिए गए दृष्यों या सुझाव को किसी हालत में मान्य नहीं किया जाएगा। अब हम खुद अकेले इस कहानी को लिखने की घोषणा करते हैं। घोषणा करने के बाद हमने अब तक की लिखी गई पूरी स्क्रिप्ट को जाँचकर देखा और पाया कि कहानी पूरी तरह से अपने ट्रैक पर ही बिल्कुल सही ढंग से आगे बढ़ रही है। कहीं-कहीं पर कोराइटर्स ने कहानी को पटरी से उतारने की कोशिश ज़रूर की, किन्तु हमने तुरन्त ठोंक-पीटकर कहानी को फिर से पटरी पर बैठा दिया। एक ज़माना था जब पेन से काग़ज़ पर लिखा जाता था, किन्तु अब मोबाइल या लैपटाप पर ही लिख लिया जाता है जो अधिक सुविधाजनक भी होता है। हमारे साथ प्रॉब्लम यह है कि मोबाइल और लैपटॉप पर लिख तो लेते हैं, लेकिन बहुत अच्छा लिखने के लिए हमें प्राचीनकाल की तरह काग़ज़ और कलम की ज़रूरत पड़ती है। हम अच्छा कलम लेने के लिए बाज़ार पहुँचे तो पता चला कि अच्छा कलम तो सिर्फ़ विदेश में मिलता है। पहले पता होता तो हम 'शहर में ढ़ाई लाख..' से कह देते और वह विदेश से लेती आती, मगर समयाभाव के कारण अब यह सम्भव नहीं था, क्योंकि हमें तत्काल एक अदद विदेशी कलम की ज़रूरत थी! अब विदेश यहाँ तो है नहीं जो लपककर विदेश दौड़े और कलम लाकर लिखने बैठ गए। हमने दिमाग़ी घोड़ा दौड़ाया तो यह आइडिया मिला कि नेपाल भी तो विदेश है। और तो और, वहाँ तो पैदल या साइकिल से भी जाया जा सकता है। अतः हमने कलम खरीदने के लिए नेपाल जाने का पूरा मन बना लिया है और इस संशय में हैं कि इस यात्रा-कार्यक्रम को हमारे 'भीषण गर्मी यात्रा कार्यक्रम' में जोड़ा जाए या नहीं? अनीता जी, प्लीज़ हेल्प करें इस जटिल समस्या के समाधान में!

  6. #54496
    कर्मठ सदस्य superidiotonline's Avatar
    Join Date
    May 2017
    प्रविष्टियाँ
    4,954
    Rep Power
    7
    अभी तो फिलहाल वाराणसी में ही हैं। यहाँ से नेपाल पास ही है। सोचता हूँ- लगे हाथ नेपाल निकल जाऊँ और विदेशी कलम लेता आऊँ। मगर सर्दी-जुकाम अचानक पकड़ लेने के कारण यात्रा की हिम्मत नहीं पड़ रही है!

  7. #54497
    कर्मठ सदस्य superidiotonline's Avatar
    Join Date
    May 2017
    प्रविष्टियाँ
    4,954
    Rep Power
    7
    अरे, कहाँ गायब हो गए सभी? अनीता जी भी कल रात से गायब हैं***

  8. #54498
    कर्मठ सदस्य superidiotonline's Avatar
    Join Date
    May 2017
    प्रविष्टियाँ
    4,954
    Rep Power
    7
    सोचता हूँ हिम्मत करके नेपाल निकल जाऊँ। एक अदद विदेशी कलम के कारण लेखन का काम अटका है!

  9. #54499
    कर्मठ सदस्य superidiotonline's Avatar
    Join Date
    May 2017
    प्रविष्टियाँ
    4,954
    Rep Power
    7
    आवश्यक सूचना- स्वास्थ्य में गड़बड़ी के चलते नेपाल यात्रा कार्यक्रम अस्थाई रूप से स्थगित किया जाता है।

  10. #54500
    कर्मठ सदस्य superidiotonline's Avatar
    Join Date
    May 2017
    प्रविष्टियाँ
    4,954
    Rep Power
    7
    आज हिन्दी दिवस है। हिन्दी दिवस के अवसर पर पेश करते हैं एक जबरदस्त हास्य-व्यंग्य 'हिन्दी के विकास में लुंगी का महत्व'। इस लेख का आवरण चित्र एकदम तैयार है और अन्तर्जाल में प्रकाशन की पूर्व अनुमति के लिए अनीता जी को पम किया जा रहा है*** अनुमति प्राप्त होते ही चित्र के साथ लेख प्रकाशित कर दिया जाएगा। वैसे यह लेख पहले से ही अन्तर्जाल में प्रकाशित है जो अधूरी है। इस बार पूरा लेख प्रकाशित किया जाएगा।

Page 5450 of 5452 प्रथमप्रथम ... 4450495053505400544054485449545054515452 LastLast

Thread Information

Users Browsing this Thread

There are currently 10 users browsing this thread. (0 members and 10 guests)

Similar Threads

  1. बाल विवाह पर चर्चा
    By deshpremi in forum नारी जगत
    Replies: 80
    अन्तिम प्रविष्टि: 16-12-2018, 12:10 AM
  2. Replies: 172
    अन्तिम प्रविष्टि: 12-12-2018, 11:23 PM
  3. छोटा पर्दा - चर्चा/विचार
    By ashwanimale in forum छोटा पर्दा
    Replies: 134
    अन्तिम प्रविष्टि: 06-07-2015, 02:48 PM
  4. पुरानी चौपाल
    By pathfinder in forum आओ समय बिताएँ
    Replies: 360330
    अन्तिम प्रविष्टि: 30-06-2013, 09:11 PM
  5. चर्चा
    By draculla in forum आओ समय बिताएँ
    Replies: 21
    अन्तिम प्रविष्टि: 24-09-2012, 10:14 AM

Tags for this Thread

Bookmarks

Posting Permissions

  • You may not post new threads
  • You may not post replies
  • You may not post attachments
  • You may not edit your posts
  •