Page 2 of 2 FirstFirst 12
Results 11 to 13 of 13

Thread: खलील जिब्रान के शब्दों का जादू (कहानियां)

  1. #11
    कर्मठ सदस्य INDIAN_ROSE22's Avatar
    Join Date
    Dec 2009
    Location
    INDIA
    Age
    41
    Posts
    3,788

    Re: खलील जिब्रान के शब्दों का जादू (कहानियां)

    दूसरी भाषा
    अपने जन्म के तीसरे दिन जब में रेशमी पालने में पड़ा हुआ था और अपने चारों ओर आश्चर्य से देख रहा था तो मेरी माँ ने दाई अन्ना से पूछा, “मेरा लाल कैसा है, बता तो?”

    अन्ना ने उत्तर दिया, “देवी, बच्चा तो बहुत अच्छा है. मैंने उसे तीन बार दूध पिलाया है. मैंने आज तक इतना प्रसन्न रहने वाला बच्चा नहीं देखा.”

    मैंने जब यह सुना तो मैं व्याकुल हो कर चिल्लाया, “माँ, यह सच नहीं है, क्योंकि मेरा बिस्तर सख्त है और जो मैंने दूध पिया है, वह भी कड़वा था. और दाई के वक्ष की गंध भी मुझे अप्रिय लगती है. मैं यहाँ बड़ा दुखी हूँ.” लेकिन मेरी बात न मेरी माँ की समझ में आ सकी और न ही मेरी दाई अन्ना की क्योंकि मैं जिस भाषा में बोल रहा था वह इस संसार की भाषा न थी. वह उस दुनिया की भाषा थी जहाँ से मैं आया था.

    मेरे जन्म के इक्कीसवें दिन हमारे घर में मुल्ला आया. उसने मेरी माँ से कहा, “तुम्हें तो खुश होना चाहिए कि तुम्हारा बच्चा जन्म से ही धर्मशील है.”

    उसकी यह बातें सुन कर मुझे बड़ा आश्चर्य हुआ मैंने मुल्ला से कहा, “फिर तो तुम्हारी स्वर्गीय माता को अफ़सोस होना ही चाहिए. क्योंकि तुम जन्मजात धर्मशील नहीं थे.” लेकिन अफ़सोस कि मुल्ला भी मेरी बात को समझ नहीं सका.
    ''निर्वाण का अर्थ वासनाओ से मुक्ति।'' Advocate in Rohtak

  2. #12
    कर्मठ सदस्य INDIAN_ROSE22's Avatar
    Join Date
    Dec 2009
    Location
    INDIA
    Age
    41
    Posts
    3,788

    Re: खलील जिब्रान के शब्दों का जादू (कहानियां)

    राजा का मुकुट

    किसी राजा ने अपनी पत्नी से कहा, “तुम रानी बनने के काबिल ही नहीं हो. तुम इतनी फूहड़ और अशिष्ट हो कि तुम मेरी पत्नि बनने के उपयुक्त नहीं हो.”

    रानी ने उत्तर दिया, “तुम राजा कहलाने का गर्व तो करते हो, लेकिन बातें बनाने के सिवा और क्या आता है?”

    रानी की बातें सुन कर राजा बहुत उत्तेजित हुआ. उसने अपना सोने का मुकुट हाथों में ले कर रानी के मस्तक पर दे मारा.

    ठीक उसी समय उस राज्य के न्याय मंत्री ने वहाँ प्रवेश किया. उसने यह सब देख कर कहा, “राजन, इस मुकुट को राज्य के सबसे बड़े कलाकार ने बनाया है. आप और आपकी रानी को भविष्य में लोग भूल जायेंगे, लेकिन इस असाधारण सौंदर्य वाले इस मुकुट की सदा रक्षा की जायेगी. और, राजन! अब तो इस मुकुट की रक्षा और भी गौरव के साथ की जायेगी क्योंकि अब तो यह महारानी के रक्त से सिंचित हो चुका है.”
    ''निर्वाण का अर्थ वासनाओ से मुक्ति।'' Advocate in Rohtak

  3. #13
    कर्मठ सदस्य INDIAN_ROSE22's Avatar
    Join Date
    Dec 2009
    Location
    INDIA
    Age
    41
    Posts
    3,788

    Re: खलील जिब्रान के शब्दों का जादू (कहानियां)

    कब्र खोदने वाला
    एक बार जब मैं एक मृतक दास को दफ़न कर रहा था तो कब्र खोदने वाला मेरी तरफ आया और बोला, “जितने भी लोग यहाँ दफ़न करने के लिए आते हैं, उनमें से मैं सिर्फ तुम्हें पसंद करता हूँ.”

    मैंने उसकी बात सुन कर कहा, “यह जान कर मुझे ख़ुशी हुयी लेकिन तुम मुझे क्यों पसंद करते हो?”

    उसने जवाब दिया, “दरअसल, बात यह है कि और लोग तो यहाँ रोते हुए आते हैं और रोते हुए ही चले जाते हैं. मगर तुम यहाँ हँसते हुए आये थे और हँसते हुए ही वापिस जा रहे हो.”
    ''निर्वाण का अर्थ वासनाओ से मुक्ति।'' Advocate in Rohtak

Page 2 of 2 FirstFirst 12

Posting Permissions

  • You may not post new threads
  • You may not post replies
  • You may not post attachments
  • You may not edit your posts
  •