loading...
Page 9 of 12 प्रथमप्रथम ... 7891011 ... LastLast
Results 81 to 90 of 116

Thread: तंत्र कथा : किताब २

  1. #81
    नवागत
    Join Date
    Oct 2017
    प्रविष्टियाँ
    24
    Rep Power
    0
    loading...
    धन्यवाद जो इस फोरम का सदस्य बना। यह प्रभाग अति प्रंशसा योग्य है।

  2. #82
    नवागत
    Join Date
    Oct 2017
    प्रविष्टियाँ
    24
    Rep Power
    0
    एक प्रेषण है की कई फोरम से निकाला जा चूका हूँ तो आपका सम्बंद उन फोरम से है मॉडरेटर का तो बता दीजिए । तो मैं अपने आप ही छोड़ दूंगा।

  3. #83
    नवागत
    Join Date
    Oct 2017
    प्रविष्टियाँ
    24
    Rep Power
    0
    म4नीष जी अगर यह भी आपका वही gisa pita फोरम है तो आप मुझे जहाँ बहु 2020 तक वैन कर दीजिए। पर अपनी बात चाहे नया फ़ोरम ही नक खोलना पढ़ जाये राखहूँगा ही

  4. #84
    वरिष्ठ सदस्य
    Join Date
    Jun 2016
    Location
    Ahmedabad, Gujarat.
    प्रविष्टियाँ
    615
    Rep Power
    2
    Quote Originally Posted by Harpreet View Post
    एक प्रेषण है की कई फोरम से निकाला जा चूका हूँ तो आपका सम्बंद उन फोरम से है मॉडरेटर का तो बता दीजिए । तो मैं अपने आप ही छोड़ दूंगा।
    आप जैसे ईश्नाम की कर्द नही है इस समाज को। तो ऐसा तो होना ही ही। पर आगे बढीये भगवान श्री राम आपके साथ है।

  5. #85
    कर्मठ सदस्य
    Join Date
    Jun 2015
    प्रविष्टियाँ
    3,303
    Rep Power
    6
    Quote Originally Posted by Harpreet View Post
    एक प्रेषण है की कई फोरम से निकाला जा चूका हूँ तो आपका सम्बंद उन फोरम से है मॉडरेटर का तो बता दीजिए । तो मैं अपने आप ही छोड़ दूंगा।
    अच्छा हुआ जी जो आप वहाँ से यहाँ आ गए जी । झूठी अविश्वसनीय गल्प कथाएं और वामपंथी मानसिक गन्दगी से छुटकारा मिला जी आपको हरप्रीत भाई ।
    जिसको न निज गौरव तथा ,
    निज देश पर अभिमान है ।
    वह नर नही है , पशु निरा है ,
    और मृतक समान है ।।
    आप मेरी इशारो में कही गयी बात समझ गए होंगे , हरप्रीत भाई ।

  6. #86
    नवागत
    Join Date
    Oct 2017
    प्रविष्टियाँ
    4
    Rep Power
    0
    और अजय कुकरेजा

    आपने इसी मंच पर कहि उस लेखक की बड़ी प्रशंसा करि थी और प्रवेश की भीख मांगी थी और अपने id प्रूफ दे कर वहां आये थे और लेखक की बड़ी भूरी भूरी प्रशंशा कर रहे थे जब उस लेखक ने तुम्हारे प्रश्नो के सटीक जवाब दिए तो अब मिर्ची क्यो लग गई तुम्हे सच कड़वा होता है तुम्हारे से ज्यादा ज्ञानी मिल गया तो फट गई तुम्हारी
    अधूरे ज्ञानियों तुम्हारी दुकान नही चलने देता है वो विरोध करता है इसलिए अपनी ओकात बता रहे हो
    शुक्र मनाओ तुम तीनो की अभी तक मनीष जी नही कूदे है यहां ओर शांति रखने को बोल रहे वरना तुम्हारे खिलाफ तो कितनी कार्यवाही होती वो तुम तीनो नही जानते

  7. #87
    नवागत
    Join Date
    Oct 2017
    प्रविष्टियाँ
    4
    Rep Power
    0
    Quote Originally Posted by Harpreet View Post
    म4नीष जी अगर यह भी आपका वही gisa pita फोरम है तो आप मुझे जहाँ बहु 2020 तक वैन कर दीजिए। पर अपनी बात चाहे नया फ़ोरम ही नक खोलना पढ़ जाये राखहूँगा ही
    मेरे फॉरम को गाली दे रहा है जहां इतने साल तेने मेरा जीवन धन्य हुआ आपके सानिध्य में , ओर ना जाने कितने रस भरे शब्द बोलता था अब बता तू वहां क्या बोल कर आया है

  8. #88
    नवागत
    Join Date
    Oct 2017
    प्रविष्टियाँ
    2
    Rep Power
    0
    Abeeee oo Harpreet! Apni okat me rahiyo! guru Shree ke khilaf agar ab ek or sabd Teri ****i Juban se nikla, toh tera hal fir tuhi Jane!

  9. #89
    वरिष्ठ सदस्य
    Join Date
    Jun 2016
    Location
    Ahmedabad, Gujarat.
    प्रविष्टियाँ
    615
    Rep Power
    2
    Quote Originally Posted by Lankesh View Post
    और अजय कुकरेजा

    आपने इसी मंच पर कहि उस लेखक की बड़ी प्रशंसा करि थी और प्रवेश की भीख मांगी थी और अपने id प्रूफ दे कर वहां आये थे और लेखक की बड़ी भूरी भूरी प्रशंशा कर रहे थे जब उस लेखक ने तुम्हारे प्रश्नो के सटीक जवाब दिए तो अब मिर्ची क्यो लग गई तुम्हे सच कड़वा होता है तुम्हारे से ज्यादा ज्ञानी मिल गया तो फट गई तुम्हारी
    अधूरे ज्ञानियों तुम्हारी दुकान नही चलने देता है वो विरोध करता है इसलिए अपनी ओकात बता रहे हो
    शुक्र मनाओ तुम तीनो की अभी तक मनीष जी नही कूदे है यहां ओर शांति रखने को बोल रहे वरना तुम्हारे खिलाफ तो कितनी कार्यवाही होती वो तुम तीनो नही जानते
    सही कहा मित्र आपने, मेने ही सामने से कहा था वहा जाने को, आप लोगो को फिर गलतफहेमी हो गई है, आप मेरे पोस्ट वहा पढे होगे तो आपको कही पर भी ऐसा नही लगेगा कि मेने गुरुजी के खिलाफ लिखा है। हा, उनके उत्तर देने जरुर चाहे है। गुरुजीने तो मुजे कुछ भी नही कहा कभी, मुजे पता है उनके जैसी सोच रखनेवाला ईन्शान कभी ऐसा नही करेगा। फिर वहा से मुजे वैसे ही निकालदिया गया है, कोई बात नही जैसी आप लोगों की मर्जी। और अब में यहा से भी जा रहा हु। मेने अब यहा वहा जाना छोड़ दिया है। में कभी किसी धर्म, पंथ या विचारधारा के खिलाफ नही बोलता, आखिर सब एक ही तो है, आप जीसे भी माने ईश्वर तो एक ही है, हा, रास्ते जरुर अलग अलग हो सकते है, विचार जरुर अलग हो सकते है।

    फिर देखो कबीरजी की विचारधारा भी भिन्न है मेरी विचारधारा से, फिर भी में उनका बहुत बड़ा चाहक हु। उनकी बहुत बातें इतनी अच्छी है कि में उनकी तारीफ किये बिना रह ही नही सकता। ऐसी कई विचारधारा है जो भिन्न हो सकती है। हम सब एक ही ईश्वर के अंश है, अगर हमारे घर में भी हम सब संदस्यो की विचारधारा कहा एक सी है। तो क्या हम एक दुसरे की दुश्मन हो जायेेगे। कभी नही।

    खैर जय श्री राम
    Last edited by AJAY RATILAL KANKRECHA; 16-10-2017 at 12:04 PM.

  10. #90
    नवागत
    Join Date
    Jun 2015
    प्रविष्टियाँ
    50
    Rep Power
    3
    Quote Originally Posted by AJAY RATILAL KANKRECHA View Post
    सही कहा मित्र आपने, मेने ही सामने से कहा था वहा जाने को, आप लोगो को फिर गलतफहेमी हो गई है, आप मेरे पोस्ट वहा पढे होगे तो आपको कही पर भी ऐसा नही लगेगा कि मेने गुरुजी के खिलाफ लिखा है। हा, उनके उत्तर देने जरुर चाहे है। गुरुजीने तो मुजे कुछ भी नही कहा कभी, मुजे पता है उनके जैसी सोच रखनेवाला ईन्शान कभी ऐसा नही करेगा। फिर वहा से मुजे वैसे ही निकालदिया गया है, कोई बात नही जैसी आप लोगों की मर्जी। और अब में यहा से भी जा रहा हु। मेने अब यहा वहा जाना छोड़ दिया है। में कभी किसी धर्म, पंथ या विचारधारा के खिलाफ नही बोलता, आखिर सब एक ही तो है, आप जीसे भी माने ईश्वर तो एक ही है, हा, रास्ते जरुर अलग अलग हो सकते है, विचार जरुर अलग हो सकते है।

    फिर देखो कबीरजी की विचारधारा भी भिन्न है मेरी विचारधारा से, फिर भी में उनका बहुत बड़ा चाहक हु। उनकी बहुत बातें इतनी अच्छी है कि में उनकी तारीफ किये बिना रह ही नही सकता। ऐसी कई विचारधारा है जो भिन्न हो सकती है। हम सब एक ही ईश्वर के अंश है, अगर हमारे घर में भी हम सब संदस्यो की विचारधारा कहा एक सी है। तो क्या हम एक दुसरे की दुश्मन हो जायेेगे। कभी नही।

    खैर जय श्री राम
    अजय जी
    आपसे कोई बेर नही अगर किसी बात से विरोध है तो वैचारिक मतभेद सम्भव है पर गेहूं के साथ गन भी पिसता है आप मुझे व्यक्तिगत बोल देते तो कभी कोई कार्यवाही नही होती सभी बड़े दिल के है आप अपना पक्ष उन्हें रखिये वो हर सम्भव मदद करेंगे आपका इंतजार रहेगा

Page 9 of 12 प्रथमप्रथम ... 7891011 ... LastLast

Thread Information

Users Browsing this Thread

There are currently 1 users browsing this thread. (0 members and 1 guests)

Bookmarks

Posting Permissions

  • You may not post new threads
  • You may not post replies
  • You may not post attachments
  • You may not edit your posts
  •