Page 97 of 97 प्रथमप्रथम ... 4787959697
Results 961 to 962 of 962

Thread: तंत्र की अलौकिक दुनिया , मेरे यात्रा वृतांत

  1. #961
    नवागत
    Join Date
    May 2018
    प्रविष्टियाँ
    47
    Rep Power
    0
    Quote Originally Posted by xman View Post
    ये दो संस्मरण तो उनके नही है, ना ही कहीं और से कॉपी-पेस्ट है, ये मौलिक वर्तांत है.
    गुरूजी के सारे संस्मरण मैं पढ़ चूका हूँ, नए भी पढ रहा हूँ, उनकी खुद की साईट है, जिस पर वो आज भी लिख रहे है, लोगों ने जितने अब तक पढ़े है उनके बाद काफी ज्यादा संस्मरण लिखे जा चुके है.
    आज भी उन्होंने अपनी साईट पर चल रहे लेटेस्ट संस्मरण में अपडेट दिया है, वहाँ उनकी साईट पर रोजाना 5 अपडेट आते है, इतने धीमे व छोटे अपडेट भी नही आते है, जितने टाइम में इस सूत्र पर २ वर्तांत लिखें है उतने समय में गुरूजी
    ने अपनी साईट पर ३०-४० संस्मरण लिख दिए है.
    Namaskarji, Main bhi unke likhe sansmarn padhna chahta hu. Unki niji site kis naam se hai ? Beshak mujhe personal message kar dijiye.

  2. #962
    कर्मठ सदस्य sanjaychatu's Avatar
    Join Date
    Aug 2015
    प्रविष्टियाँ
    3,535
    Rep Power
    6
    kidhar hai pandit ji ,

Page 97 of 97 प्रथमप्रथम ... 4787959697

Thread Information

Users Browsing this Thread

There are currently 3 users browsing this thread. (0 members and 3 guests)

Tags for this Thread

Bookmarks

Posting Permissions

  • You may not post new threads
  • You may not post replies
  • You may not post attachments
  • You may not edit your posts
  •