Quote Originally Posted by DewlanceHosting View Post
दरअसल मैने एक नावेल लिखा है हिन्दी मे और उसमे ग्रामर के शब्द ठिक नही है जिसकी वजह से कई लोग पढने मे दिक्कत बताते हैं। क्या करूं जिससे मांत्राए लगाना सिख जाउं जैसे बडा या छोटा मांत्रा कैसे पहचानते हैं?
हिन्दी की खाल पहने हे अँग्रेज़ी के लेखक! मिल्कीवे के सबसे बड़े राइटर रजत वाइनर का शत-शत नमन स्वीकार करें। हिन्दी की खाल में अँग्रेज़ी लेखक देखकर धन्य हो गया, क्योंकि आपने टूटी-फूटी हिन्दी में ही सही, एक अदद उपन्यास लिखने में सफलता प्राप्त कर ली है। बधाई हो।

अब कृपया यह बताने का कष्ट करें- अँग्रेज़ी लेखन में 'द मैन बुकर प्राइज़' जैसा बड़ा स्कोप होते हुए भी आप हिन्दी लेखन के क्षेत्र में क्यों पधारे? वैसे व्याकरण या मात्रा की त्रुटि कोई मायने नहीं रखती। बस उपन्यास का कथा-वस्तु ठीक होना चाहिए।