Page 3 of 3 प्रथमप्रथम 123
Results 21 to 28 of 28

Thread: अरावन (Aravan) एक देवता

  1. #21
    स्वर्ण सदस्य bndu jain's Avatar
    Join Date
    Sep 2016
    Location
    मध्य प्रदेश
    प्रविष्टियाँ
    59,859
    Rep Power
    50


    अरावन की मान्यता


    तमिलनाडु में अरावन के कई मंदिर बनाए गए हैं जिनमें कूवगम का मंदिर बहुत प्रसिद्ध है। प्रतिवर्ष तमिल पंचांग के अनुसार नव वर्ष की पहली पूर्णिमा को 18 दिनों तक चलने वाले इस त्यौहार की शुरुआत होती है। देश-विदेश से बहुत से किन्नर यहां एकत्र होते हैं।


  2. #22
    स्वर्ण सदस्य bndu jain's Avatar
    Join Date
    Sep 2016
    Location
    मध्य प्रदेश
    प्रविष्टियाँ
    59,859
    Rep Power
    50


    नाच-गाने का माहौल


    करीब 16 दिनों तक खूब नाच-गाना होता है, मनोरंजन होता है। सब खुशी-खुशी एक साथ खाते-पीते हैं और विवाह की तैयारियां करते हैं। 17वें दिन पुरोहित पूजा शुरू करता है और अरावन देवता पर कोई नारियल चढ़ाया जाता है।

  3. #23
    स्वर्ण सदस्य bndu jain's Avatar
    Join Date
    Sep 2016
    Location
    मध्य प्रदेश
    प्रविष्टियाँ
    59,859
    Rep Power
    50


    अरावन की पत्नी


    इसके बाद अरावन देवता के ही सामने पुरोहित द्वारा किन्नरों को मंगलसूत्र पहनाकर उन्हें अरावन की पत्नी बनाया जाता है।



  4. #24
    स्वर्ण सदस्य bndu jain's Avatar
    Join Date
    Sep 2016
    Location
    मध्य प्रदेश
    प्रविष्टियाँ
    59,859
    Rep Power
    50


    विधवा होने का समय


    18वें दिन अरावन की मूर्ति को पूरे गांव में घुमाकर उसे तोड़ दिया जाता है और दुल्हन के रूप में किन्नर अपना मंगल सूत्र तोड़कर, सारा श्रृंगार मिटाकर स्वयं को विधवा मान लेते हैं।



  5. #25
    स्वर्ण सदस्य bndu jain's Avatar
    Join Date
    Sep 2016
    Location
    मध्य प्रदेश
    प्रविष्टियाँ
    59,859
    Rep Power
    50


    आंसुओं की बरसात


    रंग-बिरंगे कपड़े छोड़कर सभी किन्नर सफेद लिबास पहनकर जोर-जोर से विलाप करने लगते हैं। वे इतना रोते हैं कि उन्हें देखने वालों की भी आंखें आंसुओं से भर जाती हैं।


  6. #26
    स्वर्ण सदस्य bndu jain's Avatar
    Join Date
    Sep 2016
    Location
    मध्य प्रदेश
    प्रविष्टियाँ
    59,859
    Rep Power
    50


    कूवगम (तमिलनाडु) में है भगवान अरावन का मंदिर :


    वैसे तो अब तमिलनाडु के कई हिस्सों में भगवान अरावन के मंदिर बन चुके है पर इनका सबसे प्राचीन और मुख्य मंदिर विल्लुपुरम जिले के कूवगम गाँव में है जो की Koothandavar Temple के नाम से जाना जाता है। इस मंदिर में भगवान अरावन के केवल शीश की पूजा की जाती है ठीक वैसे ही जैसे की राजस्थान के खाटूश्यामजी में बर्बरीक के शीश की पूजा की जाती है।

  7. #27
    नवागत asr335704's Avatar
    Join Date
    Jul 2019
    Location
    India
    प्रविष्टियाँ
    6
    Rep Power
    0
    Quote Originally Posted by bndu jain View Post


    कूवगम (तमिलनाडु) में है भगवान अरावन का मंदिर :


    वैसे तो अब तमिलनाडु के कई हिस्सों में भगवान अरावन के मंदिर बन चुके है पर इनका सबसे प्राचीन और मुख्य मंदिर विल्लुपुरम जिले के कूवगम गाँव में है जो की Koothandavar Temple के नाम से जाना जाता है। इस मंदिर में भगवान अरावन के केवल शीश की पूजा की जाती है ठीक वैसे ही जैसे की राजस्थान के खाटूश्यामजी में बर्बरीक के शीश की पूजा की जाती है।
    वाह! यह मेरे लिए नई जानकारी है। मुझे यह पहले नहीं पता था। इसे शेयर करने के लिए धन्यवाद।
    _____________________
    Eat, Read, Rest, Enjoy

  8. #28
    स्वर्ण सदस्य bndu jain's Avatar
    Join Date
    Sep 2016
    Location
    मध्य प्रदेश
    प्रविष्टियाँ
    59,859
    Rep Power
    50
    Quote Originally Posted by asr335704 View Post
    वाह! यह मेरे लिए नई जानकारी है। मुझे यह पहले नहीं पता था। इसे शेयर करने के लिए धन्यवाद।
    कमेन्ट के लिए धन्यवाद

Page 3 of 3 प्रथमप्रथम 123

Thread Information

Users Browsing this Thread

There are currently 2 users browsing this thread. (0 members and 2 guests)

Bookmarks

Posting Permissions

  • You may not post new threads
  • You may not post replies
  • You may not post attachments
  • You may not edit your posts
  •