Page 5 of 5 प्रथमप्रथम ... 345
Results 41 to 50 of 50

Thread: जीतें यू॰एस॰ डॉलर $ 25,000

  1. #41
    कर्मठ सदस्य superidiotonline's Avatar
    Join Date
    May 2017
    प्रविष्टियाँ
    3,750
    Rep Power
    5
    मंच के बड़े कद के राइटर पीकेपी जी तो धन्यवाद देना दूर रहा, इधर झाँकने भी नहीं आए!

  2. #42
    कर्मठ सदस्य superidiotonline's Avatar
    Join Date
    May 2017
    प्रविष्टियाँ
    3,750
    Rep Power
    5

    Cool


    'राइटरों के इंटरनेशनल दंगल' के लिए सटीक कहानी का विषय चुनने की विधि-

    वैसे तो इस विषय पर हम पहले ही मंच पर निःशुल्क 'बुकर कोचिंग' वर्कशॉप चला रहे थे जिसे पढ़ने के बाद सक्षम लोग 'राइटरों के इंटरनेशनल दंगल' के लिए सटीक कहानी बड़ी आसानी से लिख लेते, क्योंकि 'बुकर' के आगे 'राइटरों का इंटरनेशनल दंगल' कुछ भी नहीं है। किन्हीं कारणवश 'बुकर कोचिंग' सूत्र पूरा नहीं हो पाया। अतः राइटरों के इंटरनेशनल दंगल' के लिए सटीक कहानी का विषय चुनने की विधि पेश करते हैं फास्ट ट्रैक में जिससे पाठकगण लाभान्वित हो सकें।

  3. #43
    कर्मठ सदस्य superidiotonline's Avatar
    Join Date
    May 2017
    प्रविष्टियाँ
    3,750
    Rep Power
    5

    Cool

    १. 'राइटरों के इंटरनेशनल दंगल' के लिए एक साधारण आम कहानी तो बिल्कुल नहीं चलने वाली, क्योंकि वो कहानी तो बिल्कुल नहीं चलेगी जो फिल्मी ताने-बाने में फिट न हो सके और फिल्म बनाने के लिहाज से ठीक न हो। संक्षेप में, १ पन्ने का वही सिनोप्सिस चुना जाएगा जिसमें जूरी को फ़िल्म बनने की अपार सम्भावना नज़र आएगी। यदि किसी प्रकार पहले राउण्ड में १ पन्ने का सिनोप्सिस चुन भी लिया गया तो अगले राउण्ड में 8 पेज में सिनोप्सिस का विस्तार (Treatment development) यदि कायदे से न लिखा गया तो अगले राउण्ड में कहानी राइटरों के इंटरनेशनल दंगल से बाहर होगी।

  4. #44
    कर्मठ सदस्य superidiotonline's Avatar
    Join Date
    May 2017
    प्रविष्टियाँ
    3,750
    Rep Power
    5

    Cool

    पहले सोचा था कि पाठकों के लाभार्थ यहाँ पर 'राइटरों के इंटरनेशनल दंगल' के लिए सटीक कहानी का विषय चुनने की विधि प्रस्तुत करें, फिर याद आया कि यू०एस० डॉलर २५,००० अपनी जेब में जाने से पहले सलाह देकर अपने ही खिलाफ प्रतिद्वंदी खड़ा करना महामूर्खता होगी.

  5. #45
    कर्मठ सदस्य superidiotonline's Avatar
    Join Date
    May 2017
    प्रविष्टियाँ
    3,750
    Rep Power
    5
    एक हफ्ते की भारी मशक्कत के साथ बनाई गई लगभग एक दर्जन नई-नवेली कहानियों को अन्तर्राष्ट्रीय तराजू पर तौलकर परखने के बाद आखिरकार हमने एक अदद ऐसी कहानी लिखने में सफलता प्राप्त कर ही ली जो राष्ट्रीय ही नहीं, अन्तराष्ट्रीय स्तर पर भी टक्कर देने में समर्थ थी। बाद में हमें याद आया कि कहानी तो अँग्रेज़ी में लिखनी है! अँग्रेज़ी में ट्राँसलेशन करने बैठे तो पता चला कि अनीता जी के 'हिन्दी में लिखाे, हिन्दी में लिखो' के चक्कर में हम अँग्रेज़ी सिरे से भूल चुके हैं। २५,००० डॉलर का मामला था। चुप कैसे बैठते? एक बार फिर हमें ए फॉर ऐपिल से लेकर जेड फॉर ज़ेबरा तक पढ़ना पड़ा, अँग्रेज़ी कोचिंग क्लास ज्वाइन करना पड़ा, अमेरिका और लंदन की दो-तीन गर्लफ्रेंण्डों को फ़ोन करके अँग्रेज़ी दुरुस्त करनी पड़ी तब कहीं जाकर अँग्रेज़ी में कहानी तैयार हुई। लगे हाथ हमने ऑस्ट्रेलिया में जाकर अवार्ड लेकर बकने वाला भाषण भी अँग्रेज़ी में तैयार कर लिया। एक बड़े ज्योतिषी को लम्बी फ़ीस देकर कहानी सबमिट करने का मुहूर्त भी निकलवा लिया। फिर याद आया कि कहानी सबमिट करने के बाद अगर अवार्ड नहीं मिला तो शहर में डेढ़ लाख आशिकों वाली गर्लफ्रेंड की नाक कट जाएगी और फिर नाक कटने के गुस्से में वो हमें हुर कर रख देगी। कहानी सबमिट करने में भारी खतरा जानकर हमने कहानी सबमिट करने का महान प्लान छोड़ दिया और अपना एक हज़ार पैंतालिस रुपया बचा लिया। अब बचत का यह रुपया अगले हफ्ते दिल्ली-यात्रा और गोलगप्पे खाने के काम आएगा!

  6. #46
    कर्मठ सदस्य superidiotonline's Avatar
    Join Date
    May 2017
    प्रविष्टियाँ
    3,750
    Rep Power
    5
    शहर में डेढ़ लाख आशिकों वाली गर्लफ्रेंड के हाथों हुरे जाने के डर से 'राइटरों के इंटरनेशनल दंगल' से अपने आपको अलग करके सुरक्षित होने के बाद पाठकों के लाभार्थ लेख को आगे बढ़ाते हैं-

    २. एक बात गाँठ बाँध लें वो ये कि 'राइटरों के इंटरनेशनल दंगल' में एक साधारण कहानी का कॉन्सेप्ट तो बिल्कुल नहीं चलने वाला। यदि किसी प्रकार आपकी कहानी का ट्रीटमेंट विदेशी जूरी पास चला भी गया तो भी विदेशी राइटरों की दमदार कहानियों के सामने चारों खाने चित हो जाएगा। इसलिए आपकी कहानी का कॉन्सेप्ट एकदम यूनिक होना चाहिए।

  7. #47
    कर्मठ सदस्य superidiotonline's Avatar
    Join Date
    May 2017
    प्रविष्टियाँ
    3,750
    Rep Power
    5
    ३. प्रायः प्रतियोगिताओं में ऐसे विषयों को प्राथमिकता देने का रिवाज है जिसमें देश, धर्म, जाति, नस्ल, रंग भेद या किसी ज्वलन्त राष्ट्रीय-अन्तर्राष्ट्रीय समस्या अथवा सामाजिक कुरीतियों के द्वन्द्व (Conflict) का चित्रण बखूबी किया गया हो। चित्रण के साथ-साथ निराकरण भी हो तो सोने में सुहागा है। अतः आपकी कहानी का कॉन्सेप्ट इन्हीं विषयों पर आधारित होना चाहिए और कॉन्सेप्ट का प्रस्तुतिकरण ज़ोरदार ढंग से बखूबी किया जाना चाहिए। आपका कॉन्सेप्ट चाहे जितना अच्छा हो, यदि प्रस्तुतिकरण में ज़रा भी झोल है तो आपकी कहानी 'राइटरों के इंटरनेशनल दंगल' में बिल्कुल नहीं चलने वाली है!

  8. #48
    कर्मठ सदस्य superidiotonline's Avatar
    Join Date
    May 2017
    प्रविष्टियाँ
    3,750
    Rep Power
    5
    ४. हास्य-व्यंग्य (Satire) को हल्के में बिल्कुल न लें, क्योंकि हास्य-व्यंग्य अपने आप में लेखन की एक अति विशिष्ट विधा है जिसका लेखन सम्पूर्ण विश्व में अत्यधिक क्लिष्ट माना जाता है। अतः इस प्रकार की प्रतियोगिताओं में हास्य-व्यंग्य के सटीक प्रस्तुतिकरण वाली कहानियों के चुने जाने की भी अपार सम्भावना रहती है।

  9. #49
    कर्मठ सदस्य superidiotonline's Avatar
    Join Date
    May 2017
    प्रविष्टियाँ
    3,750
    Rep Power
    5

    Cool

    ५. यदि किसी कहानी में पारम्परिक रीति-रिवाज़ों का चित्रण बखूबी किया गया हो तो भी ऐसी कहानी प्रतियोगिताओं में खूब चलती है। अतः ऐसी कहानियों को प्रतियोगिताओं में अवश्य भेजें।

  10. #50
    कर्मठ सदस्य superidiotonline's Avatar
    Join Date
    May 2017
    प्रविष्टियाँ
    3,750
    Rep Power
    5
    तो दोस्तों, उपर्युक्त बिन्दुओं को ध्यान में रखते हुए गठित कहानी के आधार पर यदि 'वन पेजर' सिनोप्सिस लिखा जाए तो प्रतियोगिताओं में जीतने की सम्भावना बढ़ जाती है। सिनोप्सिस को रोचक बनाने के लिए कुछ विशेष युक्तियों (Tricks) का प्रयोग बड़े लेखक करते हैं, जैसे- सिनोप्सिस के आदि और अन्त का रोचक चित्रण ठीक उसी प्रकार करना जिस प्रकार फ़िल्म के लिए आपने सोच रखा है, सिनोप्सिस के मुख्य द्वन्द्व (Conflict) पर विशेष प्रकाश डालना, मुख्य पात्रों का विशेष चित्रण करना तथा अन्य 'सब प्लॉट' का उल्लेख बहुत अधिक आवश्यकता पड़ने पर ही करना। इसके अतिरिक्त आपके सिनोप्सिस में फ़िल्म के अनुरूप कहानी के विस्तार की अपार सम्भावना नज़र आनी चाहिए। वस्तुतः सिनोप्सिस लेखन में उन्हीं नियमों का पालन किया जाना चाहिए जिन नियमों का पालन किसी उपन्यास से फिल्म का पहला ड्रॉफ्ट तैयार करने के लिए किया जाता है।

Page 5 of 5 प्रथमप्रथम ... 345

Thread Information

Users Browsing this Thread

There are currently 1 users browsing this thread. (0 members and 1 guests)

Bookmarks

Posting Permissions

  • You may not post new threads
  • You may not post replies
  • You may not post attachments
  • You may not edit your posts
  •