Page 3 of 3 प्रथमप्रथम 123
Results 21 to 23 of 23

Thread: स्मार्ट कार्ड का उपयोग कैसे करें?

  1. #21
    कर्मठ सदस्य superidiotonline's Avatar
    Join Date
    May 2017
    प्रविष्टियाँ
    4,218
    Rep Power
    6

    ४. वुमन कार्ड-

    यह काफी रहस्यमयी कार्ड है। 'वुमन कार्ड' के बारे में अभी तक कोई विशेष जानकारी तो हमें प्राप्त नहीं हो सकी, किन्तु शोध करने पर इतना ज़रूर पता चला कि इस कार्ड को महिलाएँ अपने पास अत्यन्त गुप्त रूप से छिपाकर रखती हैं और बहुत आवश्यकता पड़ने पर ही इस कार्ड का इस्तेमाल करती हैं। 'वुमन कार्ड' को जनहित में उजागर करने के लिए हमने कई गर्लफ्रेंडों से रो-धोकर और आइस्क्रीम खिलाने की घूँस देने का वादा करके एक अदद 'वुमन कार्ड' देने के लिए कहा, किन्तु सभी ने बेरहमी से इन्कार कर दिया। और अधिक छानबीन करने पर पता चला कि और कोई नहीं बल्कि शहर में दो लाख आशिकों वाली गर्लफ्रेंड ही ने अपनी सहेलियों के साथ मिलकर 'वुमन कार्ड' छापने का प्रिंटिंग प्रेस लगा रखा है और वही 'वुमन कार्ड' की थोक सप्लाई भी करती है। हम बड़े खुश हुए और आनन-फानन में शहर में दो लाख आशिकों वाली गर्लफ्रेंड के हैंडबैग की तलाशी चुपके से लेने लगे, मगर अफसोस.. हमें एक भी 'वुमन कार्ड' नहीं मिला। हमारे दुर्भाग्य से उसी समय शहर में दो लाख आशिकों वाली गर्लफ्रेंड आ गई और उसने हमें तलाशी लेते हुए रंगे हाथ पकड़ लिया और हमारे ऊपर चोरी का इल्ज़ाम लगाते हुए एक हज़ार आठवीं बार ब्रेकअप करने की अधिकृत घोषणा की। हमने बहुत समझाया कि हम तो 'वुमन कार्ड' ढूँढ़ रहे थे, किन्तु वह न मानी। उसके बाद हमने अन्तर्जाल में ढूँढ़ना शुरू किया तो हमें पता चला कि वर्ष २०१६ में अमेरिका में हिलेरी ने 'वुमन कार्ड' का प्रयोग किया था। साथ ही हमें उस 'वुमन कार्ड' की एक प्रति भी मिल गई। देखिए, नीचे का चित्र-


  2. #22
    कर्मठ सदस्य superidiotonline's Avatar
    Join Date
    May 2017
    प्रविष्टियाँ
    4,218
    Rep Power
    6
    ३. वुमन कार्ड-

    यह काफी रहस्यमयी कार्ड है। 'वुमन कार्ड' के बारे में अभी तक कोई विशेष जानकारी तो हमें प्राप्त नहीं हो सकी, किन्तु शोध करने पर इतना ज़रूर पता चला कि इस कार्ड को महिलाएँ अपने पास अत्यन्त गुप्त रूप से छिपाकर रखती हैं और बहुत आवश्यकता पड़ने पर ही इस कार्ड का इस्तेमाल करती हैं। 'वुमन कार्ड' को जनहित में उजागर करने के लिए हमने कई गर्लफ्रेंडों से रो-धोकर और आइस्क्रीम खिलाने की घूँस देने का वादा करके एक अदद 'वुमन कार्ड' देने के लिए कहा, किन्तु सभी ने बेरहमी से इन्कार कर दिया। और अधिक छानबीन करने पर पता चला कि और कोई नहीं बल्कि शहर में दो लाख आशिकों वाली गर्लफ्रेंड ही ने अपनी सहेलियों के साथ मिलकर 'वुमन कार्ड' छापने का प्रिंटिंग प्रेस लगा रखा है और वही 'वुमन कार्ड' की थोक सप्लाई भी करती है। हम बड़े खुश हुए और आनन-फानन में शहर में दो लाख आशिकों वाली गर्लफ्रेंड के हैंडबैग की तलाशी चुपके से लेने लगे, मगर अफसोस.. हमें एक भी 'वुमन कार्ड' नहीं मिला। हमारे दुर्भाग्य से उसी समय शहर में दो लाख आशिकों वाली गर्लफ्रेंड आ गई और उसने हमें तलाशी लेते हुए रंगे हाथ पकड़ लिया और हमारे ऊपर चोरी का इल्ज़ाम लगाते हुए एक हज़ार आठवीं बार ब्रेकअप करने की अधिकृत घोषणा की। हमने बहुत समझाया कि हम तो 'वुमन कार्ड' ढूँढ़ रहे थे, किन्तु वह न मानी। उसके बाद हमने अन्तर्जाल में ढूँढ़ना शुरू किया तो पता चला कि वर्ष २०१६ में अमेरिका में हिलेरी ने 'वुमन कार्ड' का प्रयोग किया था। साथ ही हमें उस नायाब 'वुमन कार्ड' की एक प्रति भी मिल गई। देखिए, नीचे का चित्र-


  3. #23
    कर्मठ सदस्य superidiotonline's Avatar
    Join Date
    May 2017
    प्रविष्टियाँ
    4,218
    Rep Power
    6
    ४. यूटिलिटी कार्ड-

    दिन-प्रतिदिन स्मार्ट कार्ड की बढ़ती हुई उपयोगिता को देखते हुए कुछ संस्थाएँ अपनी विज्ञापन सामग्री स्मार्ट कार्ड के आकार में छापने लगी हैं। इस तरह के कार्ड के दूसरी ओर कोई दिनोपयोगी चीज, जैसे- शहर के मुख्य फ़ोन नम्बर, कैलेण्डर इत्यादि छापे जाते हैं जिससे उपभोक्ता कार्ड को देखने के बाद तुरन्त फेंकने के स्थान पर अपनी जेब में सम्भालकर रख ले। अतः स्मार्ट कार्ड जब किसी दिनोपयोगी चीज के साथ आता है तो उसे यूटिलिटी कार्ड कहते हैं। नीचे देखिए एक यूटिलिटी कार्ड का चित्र-



    यूटिलिटी कार्ड का इस्तेमाल कुछ समयावधि तक ही किया जा सकता है। उसके बाद यूटिलिटी कार्ड पूरी तरह से बेकार हो जाता है। एक बार यूटिलिटी कार्ड मिल जाने के बाद उसके दोबारा मिलने की कोई गारन्टी भी नहीं होती, क्योंकि निःशुल्क होने के कारण यूटिलिटी कार्ड आवश्यकता के अनुरूप समय-समय पर छापे जाते हैं। अतः यूटिलिटी कार्ड के कालावधि होने पर या उससे पहले ही उसे जारी करने वाली संस्था से दूरभाष पर सम्पर्क करके या उसकी वेबसाइट पर जाकर न्यूज़लेटर सब्स्क्राइब करके समय-समय पर छपने वाले नए यूटिलिटी कार्ड को घर या कार्यालय के पते पर बिल्कुल निःशुल्क प्राप्त किया जा सकता है। यूटिलिटी कार्ड जारी करने वाली संस्था से सम्पर्क करना बड़ा ही आसान कार्य होता है, क्योंकि यूटिलिटी कार्ड में ही संस्था का टेलीफ़ोन नम्बर, वेबसाइट का पता, ईमेल इत्यादि दर्ज होता है। आजकल यूटिलिटी कार्ड में क्यू०आर० कोड छापने का चलन भी बढ़ गया है, क्योंकि क्यू०आर० कोड स्कैन करते ही संस्था की वेबसाइट आपके मोबाइल पर खुल जाती है और आपको संस्था से सम्बन्धित नवीनतम जानकारियाँ पलक झपकते ही मिल जाती हैं। ऊपर चित्र में दिए गए यूटिलिटी कार्ड में क्यू०आर० कोड का ही प्रयोग किया गया है।

Page 3 of 3 प्रथमप्रथम 123

Thread Information

Users Browsing this Thread

There are currently 1 users browsing this thread. (0 members and 1 guests)

Bookmarks

Posting Permissions

  • You may not post new threads
  • You may not post replies
  • You may not post attachments
  • You may not edit your posts
  •