Page 4 of 5 FirstFirst ... 2345 LastLast
Results 31 to 40 of 50

Thread: आज का भारत केसा है? कैसे है उसे चलाने वाले ? और चल क्या रहा है?

  1. #31
    कांस्य सदस्य sultania's Avatar
    Join Date
    Sep 2011
    Location
    MAKERS OF DIFFRENT TYPE THRED
    Posts
    5,439
    सुशांत सिंह केस मैं मुंबई पुलिस बेनकाब
    सी बी आई से भी जांच को इनकार महाराष्ट्र सरकार दुवारा

    लगभग 45 दिन से बिना FIR दर्ज किए हुए झूठ मूठ की जाँच कर रही थी /
    इधर पटना मैं जब सुशांत सिंह के परिवार ने FIR दर्ज कराई , केस की जाँच करने बिहार पुलिस मुम्बई पहुच गयी /

    रिया ओर उसके भाई लापता ?
    आज बिहार पुलिस जब रिया के ठिकाने पे पहुची तो वे नही मिले/

    सावधान इंडिया का एपिसोड याद कीजिये
    गर्ल फ्रेंड
    घर मे भूत प्रेत
    3 नकली कंपनिया
    15 करोड़ ट्रांसफर
    सारे नोकर स्टाफ चेंज
    घर वालो को बिना बताए डिप्रेसन का इलाज
    फ़ोन पे कब्जा
    मोत के 1-2 दिन पहले मृत्यक के पास से हट जाना
    घर मे चोरी का इल्जाम

    अब रिया जी सतीस मंचनडे जो कि देश के सबसे महंगे वकील मैं एक है उनके दुवारा सीधे सुप्रीम कोर्ट पहुचना ,
    सबको पता है क्या चल रहा है /
    कानूनी जानकार बोल रहे है इस केस मैं रिया की गिरफ्तारी हो सकती है, वारण्ट की आवश्यकता नही है /

    ए आर रहमान जब बोलते है कि मुझे भी बॉलीवुड मैं काम नही मिलता उसके बाद कुछ बोलना उचित नही /

    बिहार पुलिस ने आज बताया है कि मुम्बई पुलिस जांच मैं कोई सहयोग नही कर रही /
    स्थिति सब के सामने आयने की तरह साफ है /

    अभी कुछ देर पहले बिहार के उप मुख्यमंत्री ने घोषणा की है कि पटना मैं दर्ज FIR पे सी बी आई जांच जरूर होगी /

    ये होता है भारत मे ?
    बहुत बहुत धन्यवाद
    Last edited by sultania; 31-07-2020 at 05:53 PM.
    हकलाते हैं तो संस्कृत सीखें,जो व्यक्ति धाराप्रवाह बोल नहीं पाते, अटकते हैं या फिर हकलाते हैं उन्हें संस्कृत सीखना चाहिए।संस्कृत से हकलाना भी खत्म हो जाता है।

  2. #32
    कांस्य सदस्य sultania's Avatar
    Join Date
    Sep 2011
    Location
    MAKERS OF DIFFRENT TYPE THRED
    Posts
    5,439
    क्या CBI सी बी आई माया नगरी का तिलिस्म तोड़ पायेगी?

    केंद्र सरकार ने सुशांत सिंह राजपूत केस की जांच CBI को दे दी /
    केंद्र सरकार से सॉलिसीटर जनरल तुषार मेहता ने सुप्रीम कोर्ट की पीठ को सूचित किया कि इस मामले की जांच सीबीआई को सौंपने की बिहार सरकार की सिफारिश उसने स्वीकार कर ली है, CBI इस मामले की जांच पटना मैं दर्ज FIR के आधार पे करेगी /

    इधर बिहार से गयी जांच टीम की हालत पस्त कर दी गयी है /
    उनके बड़े अधिकारी को एयरपोर्ट से ही कोरेंटिन करा गया , बाकी चारो भी कार्यवाही के डर से दुबक गये/
    जरा सी जांच पे सच्चाई पलटने लगी तो जांच टीम पे ही कारवाही कर दी/

    सुशांत के सेक्रेटरी की आत्महत्या भी पुनः जांच का विषय बन गयी /

    बॉलीवुड मैं भाई भतीजावाद
    नेताओ के कनेक्सन बॉलीवुड से
    प्रशासन तक पहुच बॉलीवुड की

    तो क्या सी बी आई इस माया नगरी के तिलस्म को तोड़ पायेगी?
    हकलाते हैं तो संस्कृत सीखें,जो व्यक्ति धाराप्रवाह बोल नहीं पाते, अटकते हैं या फिर हकलाते हैं उन्हें संस्कृत सीखना चाहिए।संस्कृत से हकलाना भी खत्म हो जाता है।

  3. #33
    कांस्य सदस्य superidiotonline's Avatar
    Join Date
    May 2017
    Posts
    6,098
    सुल्तानिया जी, हम वही सुन रहे हैं जो रि०भारत हमें सुना रहा है।

    कल तक रिया दोषी थी।

    आज दिशा सुसाइड से लिंक जोड़ दिया गया।

    हो सकता है कि कल ये धमाकेदार खुलासा हो कि अंकि ता ही दोषी थी जो एसएसआर की पहली जीएफ० थी। एसएसआर ने उससे ब्रेकअप कर लिया और अं किता चुपचाप देखती रही। यह बात तो बिल्कुल गले से नीचे नहीं उतरती। ऐसा तो नहीं कि अकि ता ने बहुत बड़ा मास्टर प्लान बनाकर एसएसआर से अपने ब्रेकअप का बदला ले लिया हो। अर्नब को चाहिए- इस एंगिल पर भी जाँच करें।

  4. #34
    कांस्य सदस्य sultania's Avatar
    Join Date
    Sep 2011
    Location
    MAKERS OF DIFFRENT TYPE THRED
    Posts
    5,439
    रिया दोषी है ?
    खुद शुशांत के पिता ने मुम्बई पुलिस को मोत के काफी पहले व्हाट्सअप पे
    रिया ओर उनके साथियो पर शक जता दिया था /
    फिर शुशांत की मौत हुई /
    अब होता तो ये है कि हत्या पूर्व शक के दायरे मैं आये वयक्ति के ऊपर जांच हो ,
    हुआ ये की मात्र 15-20 मिनट मैं ही मुम्बई पुलिस ने इसे आत्महत्या साबित कर दिया ,
    वयक्ति के मर जाने के बाद भी , पूर्व मैं हत्या की आशंका जताने के बाद भी FIR नही होती , ये तो गलत ही है / पुलिस दुवारा मीडिया स्टेटमेंट मैं भी ये बात छिपाई गयी /
    सुप्रीम कोर्ट ने भी साफ बोलै है उनकी मौत का रहस्य सामने आना चाहिये, आत्महत्या का रहस्य सामने आना चाहिए ऐसा ना बोलै है /

    बाकी माया नगरी का नेक्सेस सीबीआई तोड़ पायेगी ये देखने वाली बात है/

    भाई भतीजावाद होता है , कलाकारों को काम नही मिलता , अगर मिलता है तो उसे रोका जाता है , जब खुद ये बात AR रहमान के साथ घटित हो गयी तो अब इसपे भी लोग चुप ही है , अब भाई भतीजावाद पे क्या सबूत चाहिये किसी को ? जो लोग बोल रहे थे बॉलीवुड मैं ऐसा न होता , अब कहाँ गये वो बुद्धिजीवी लोग , रहमान साहब ने ये बयान खुद से मीडिया को दिया है , कोई
    भी मीडिया इसपे स्टोरी नही कर रहै?
    क्या फिर खरीदा गया पेड मीडिया को ?
    R bhart कोई राजमार्ग नही है , ना ही कोई सत्य प्रचारक चेनल , ना ही नंबर 1 चेनल , बस उसका अपना एक मत है , जिस पे वो सिर्फ स्टोरी कर रहा है /

    सेक्रेटरी की आत्महत्या के बाद मालिक की भी आत्महत्या?
    पुलिस सूत्रों की खबर , ऑफिसियल खबर /
    अब जांच तो बनती है ना , but अफसोस बिना FIR दर्ज किए हुवे ही झूठ मूठ की जांच चल रही थी /
    अरे भाई सिंपल है , किसी के घर मे मोत हुई है वो लोग जाँच चाहते है उन्हें शक है , तो जांच कीजिये ना , ये मौलिक अधिकार का हनन क्यो किया आपने , इस सवाल का जवाब अभी तक नही मिला है/

    बहुत बहुत धन्यवाद
    Last edited by sultania; 06-08-2020 at 07:47 AM.
    हकलाते हैं तो संस्कृत सीखें,जो व्यक्ति धाराप्रवाह बोल नहीं पाते, अटकते हैं या फिर हकलाते हैं उन्हें संस्कृत सीखना चाहिए।संस्कृत से हकलाना भी खत्म हो जाता है।

  5. #35
    कांस्य सदस्य superidiotonline's Avatar
    Join Date
    May 2017
    Posts
    6,098
    Quote Originally Posted by sultania View Post
    रिया दोषी है ?
    खुद शुशांत के पिता ने मुम्बई पुलिस को मोत के काफी पहले व्हाट्सअप पे
    रिया ओर उनके साथियो पर शक जता दिया था /
    खाली-खूली शक़ जताने से क्या होता है?

    एस०एस०आर० के पिता को बेटे की गर्लफ्रेंड पसन्द नहीं थी। इसीलिए सोशल मीडिया पर शक़ जताकर मन की भड़ास निकाली। अमूमन लोग ऐसा ही करते हैं जो आम बात है।

    उधर एस०एस०आर० अपने 'लिव-इन-साले' की लाइफ़ सेट करने में लगा था। यह भी आम बात है।

    एस०एस०आर० का धन चूसकर किसी बात पर ब्रेकअप कर लेना रि या के लिए बहुत आसान काम था। मर्डर करने की बात गले से नीचे नहीं उतरती।

  6. #36
    कांस्य सदस्य sultania's Avatar
    Join Date
    Sep 2011
    Location
    MAKERS OF DIFFRENT TYPE THRED
    Posts
    5,439
    शुशांत सिंह की मौत की आशंका खुद उनके पिता ने मुम्बई पुलिस से व्हाट्सएप्प पे लगाई थी , उनकी मौत हो चुकी है , मतलब आशंका सही साबित हुई , मैं ये ना बोलता की फलाने की साजिश है , पर मुम्बई पोलिस ने मोत के बाद भी FIR दर्ज नही की , जांच तो दूर की बात है, पीड़ित पक्ष को शंका जाहिर का पूरा अधिकार है , और उसकी जांच होना मौलिक अधिकार
    इसके अलावा मुम्बई पोलिस कमिश्नर ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर ये साफ कर दिया है कि क्लीन चिट किसी को नही दी गई है /
    Last edited by sultania; 06-08-2020 at 11:44 AM.
    हकलाते हैं तो संस्कृत सीखें,जो व्यक्ति धाराप्रवाह बोल नहीं पाते, अटकते हैं या फिर हकलाते हैं उन्हें संस्कृत सीखना चाहिए।संस्कृत से हकलाना भी खत्म हो जाता है।

  7. #37
    कांस्य सदस्य superidiotonline's Avatar
    Join Date
    May 2017
    Posts
    6,098
    Quote Originally Posted by sultania View Post
    शुशांत सिंह की मौत की आशंका खुद उनके पिता ने मुम्बई पुलिस से व्हाट्सएप्प पे लगाई थी , उनकी मौत हो चुकी है , मतलब आशंका सही साबित हुई ,
    ह्वाट्स ऐप पर कहीं FIR दर्ज होती है? यह कौन सा कानून है?

    और फिर आशंका का सच साबित होना coincidence हो सकता है। coincidence के आधार पर किसी को दोषी साबित नहीं किया जा सकता।

    अब इस बात का फैसला अनीता जी करेंगी कि कौन दोषी है?

  8. #38
    कांस्य सदस्य sultania's Avatar
    Join Date
    Sep 2011
    Location
    MAKERS OF DIFFRENT TYPE THRED
    Posts
    5,439
    WhatsApp , msg , sms , लेटर सभी के दुवारा शिकायत की जा सकती है , कोई दिक्कत नही है /

    दोषी नही ठहराया जा सकता ये भी सही है , पर इसकी FIR दर्ज ना होना और पीड़ित परिजनों की शिकायत पे जांच भी ना करना बिल्कुल ही गलत है /
    रिया को अपराधी साबित करना जांच का विषय है फालतू मैं किसी को मुजरिम नही बोला जा सकता , पर पीड़ित परिजनों को जिस पे शक है FIR दर्ज कर उसपे जांच क्यों नहीं कि , ना ही मुम्बई पुलिस ने बताया कि पूर्व मैं ही मृतक के परिजन हत्या की आशंका जाहिर कर चुके है , अब बचा क्या था ,जांच के अलावा।
    पर जांच ही ना कर रही थी मुम्बई पुलिस , जांच के लिए fir तक नही लिखी इन्होंने /
    हकलाते हैं तो संस्कृत सीखें,जो व्यक्ति धाराप्रवाह बोल नहीं पाते, अटकते हैं या फिर हकलाते हैं उन्हें संस्कृत सीखना चाहिए।संस्कृत से हकलाना भी खत्म हो जाता है।

  9. #39
    कांस्य सदस्य sultania's Avatar
    Join Date
    Sep 2011
    Location
    MAKERS OF DIFFRENT TYPE THRED
    Posts
    5,439
    पूर्व मैं भी बलात्कारी आशाराम को सिर्फ एक लेटर के दुवारा शिकायत करने पे आज उनकी हालत सभी देख रहे है /

    पुलिस से कोई भी शिकायत खुद मिलके , इलेक्ट्रॉनिक मीडिया दुवारा या पत्र भेजके की जा सकती है , बल्कि रोज ही ऐसे मामलों मैं संज्ञान लिए जाते है/
    हकलाते हैं तो संस्कृत सीखें,जो व्यक्ति धाराप्रवाह बोल नहीं पाते, अटकते हैं या फिर हकलाते हैं उन्हें संस्कृत सीखना चाहिए।संस्कृत से हकलाना भी खत्म हो जाता है।

  10. #40
    कांस्य सदस्य superidiotonline's Avatar
    Join Date
    May 2017
    Posts
    6,098
    Quote Originally Posted by sultania View Post
    WhatsApp , msg , sms , लेटर सभी के दुवारा शिकायत की जा सकती है , कोई दिक्कत नही है /

    दोषी नही ठहराया जा सकता ये भी सही है , पर इसकी FIR दर्ज ना होना और पीड़ित परिजनों की शिकायत पे जांच भी ना करना बिल्कुल ही गलत है /
    रिया को अपराधी साबित करना जांच का विषय है फालतू मैं किसी को मुजरिम नही बोला जा सकता , पर पीड़ित परिजनों को जिस पे शक है FIR दर्ज कर उसपे जांच क्यों नहीं कि , ना ही मुम्बई पुलिस ने बताया कि पूर्व मैं ही मृतक के परिजन हत्या की आशंका जाहिर कर चुके है , अब बचा क्या था ,जांच के अलावा।
    पर जांच ही ना कर रही थी मुम्बई पुलिस , जांच के लिए fir तक नही लिखी इन्होंने /
    सभी शिकायतों पर एफआईआर दर्ज होने लगे तो पूरे देश में रोज़ करोड़ों शिकायतें दर्ज होंगी। इतनी पुलिस है आपके पास जाँच करने के लिए?

    प्रथम दृष्टया अपराध पाया जाएगा तभी तो एफआईआर दर्ज होगी।

    मुम्बई पुलिस ने 56 लोगों से पूछताछ की है अभी तक। क्या ये मामूली बात है? कम्बख्त कोई कुछ बताता ही नहीं।

Page 4 of 5 FirstFirst ... 2345 LastLast

Posting Permissions

  • You may not post new threads
  • You may not post replies
  • You may not post attachments
  • You may not edit your posts
  •