Page 7 of 8 FirstFirst ... 5678 LastLast
Results 61 to 70 of 72

Thread: आज का भारत केसा है? कैसे है उसे चलाने वाले ? और चल क्या रहा है?

  1. #61
    कांस्य सदस्य sultania's Avatar
    Join Date
    Sep 2011
    Location
    MAKERS OF DIFFRENT TYPE THRED
    Posts
    5,504
    कुवारी डिजाईनर विधवा के नकाब के पीछे मुम्बई पोलिस ओर कूपर के डॉक्टर

    पटना से कैलिफोर्निया तक जब पब्लिक ने सुशांत की मिस्ट्री की जांच की मांग उठाई तो दल्ले पत्रकारों और पेड ब्लॉगरों ने जांच नही होने देने के लिए सत्ता के सहयोग से सुप्रीम कोर्ट तक एड़ी चोटी एक कर दी , यहां तक कि सी बी आई को भी क्वारन्टीन की धमकी दी , ये भारत के इतिहास मे प्रथम बार हुआ कि सी बी आई को इस प्रकार बोला गया /

    खेर सी बी आई ने अपने मेनुअल के हिसाब से केस की जाँच धुवांधार अंदाजमैं चालू कर दी है

    फ़सती नजर आ रही है मुम्बई खाकी ओर सफ़ेदपोश डॉक्टर/

    सी बी आई मामलो के जानकार लोगो के अनुसार सीबीआई मुम्बई पोलिस ओर कूपर के डॉक्टर से कुछ ये सवाल करेगी ,

    बेसिक सवाल फिर इनके जवाबो पे सवाल होगा /

    सी बी आई - क्या आपको बॉडी लटकते मिली ?
    मुम्बई पुलिस - नही , हमे मौजूद लोगों ने बताया/

    सी बी आई - अच्छा ? सुसाइट नोट आपको मिला?
    पोलिस- तलाशी ली गयी नही मिला /

    सी बी आई - तो फिर आपने बिना डॉक्टर रिपोर्ट आये ही किस आधार पे तुरंत ही बोल दिया कि ये आत्महत्या है ?
    पोलिस- चश्मीद के बयान ओर हमारे अनुभव के आधार पे /रूम अंदर से बंद था , ओर वो बाहर से खुल नही सकता था /

    सीबीआई - उसके secruity के पास डुप्लीकेट चाबी होगी न ?
    पुलिस- नही पूछने पे बताया मिसिंग थी /

    सीबीआई- कैमरे भी ऑफ थे , security ने इसकी कही कम्प्लेन की थी क्या?पोलिस- 174 मैं जांच चल रही है/

    सी बी आई - आपने सुसाईट नोट की तलाशी के बाद घटनास्थल को सील क्यों नही किया , मेला सा लगा था, कई लोग भागते दौड़ते नजर आ रहे है , जबकि ये मेनुअल मैं है कि आपको सील करना ही होगा?
    पुलिस - इसकी जरूरत नही थी , क्योकि हम आत्महत्या पे काम कर रहे है ,चुकी क्राइम नही हुआ तो इसकी हमने जरूरत नही समझी/

    सीबीआई- क्राइम तो हुआ है, आत्महत्या करना भी तो क्राइम है ?
    आपने कोई मेनुअल का पालन नहीं किया , ना ही क्राइम सिन को रिक्रिएट किया, फ़ॉरेंसिक जांच भी कई दिन बाद कि ?
    पोलिस- पूरी तरह से हम मेनुअल के तहत जांच कर रहे है/तुरंत ही 174 दर्ज कर मेनुअल के हिसाब से काम किया गया है/

    सी बी आई - घटना स्थल को सील ना करने की अनुमति आपने किस अधिकारी से ली , क्योंकि ये सब करना मेनुअल मैं है /
    पोलिस - इसकी भी जरूरत नही समझी गयी/

    सी बी आई - पोस्टमार्टम करने की अनुमति घर के किस नजदीकी परिजन से ली गयी ?
    पोलिस - उनके एक मित्र ने दावा किया , उनके दावे के आधार पे उनसे सहमति ली गयी/

    सीबीआई- उनके पिता भाई बहन को शव नही सौपा गया, थर्ड पर्सन को शव क्यों दिया?
    पोलिस - दावे के आधार पे शव सोपा गया/

    सीबीआई - कौविड टेस्ट के बिना पोस्टमार्टम हुआ ?जबकि आप लोग कौविड के इतने जागरूक है कि आईपीएस को भी रात मैंकोरिनटिन कर देते है ?
    पोलिस - सर ये डॉक्टर बतायेगे ये हमारा मसला नही है ?

    सीबीआई- रात को बिना मजिस्ट्रेट की लिखित अनुमत के बिना पोस्टमार्टम नही हो सकता फिर ये कैसे हुआ ?
    पुलिस- 174 के तहत इसकी पूछताछ चल रही है, इसी बीच आपके पास केस आ गया /

    सी बी आई- मोत का समय पोस्टमार्टम मैं नही है ?
    पोलिस- डॉक्टर बतायेगे /

    सी बी आई- आपने दूसरे डाक्टर की ओपिनियन क्यों नही ली ?
    पोलिस- पोस्टमार्टम की अनुमाति देने वाले जांच से संतुष्ट है/

    सीबीआई- बिसरा रिपोर्ट मैं पेट के अंदर जूस है ये पूरा किलयर नही है इस पे भी आपने 2nd डॉक्टर की टीम से ओपिनियन क्यों नही लिया ?
    पोलिस- आत्महत्या मामले मैं जरूरी नहि है/

    सी बी आई और डॉक्टर

    सीबीआई- आपने मोत का टाइम नही लिखा?
    डॉक्टर- हमे पता नही चला/

    सी बीआई - 2nd ओपिनियन कहा है?
    डॉक्टर- इसकी रिक्वेस्ट पोस्टमार्टम सहमति देनेवाले ने नहि की/ असहमति या डाउट जताने पे विचार किया जाता है/

    सी बी आई- अच्छा चलिए मजिस्ट्रेट का आदेश दिखाये जिसमे रात को पोस्टमार्टम की मंजूरी दी गयी, ओर ये कौविड टेस्ट क्यों नहीं हुआ?
    डॉक्टर- सर हमे कानून का इतना ज्ञान नही है, हम यहां नोकरी करते है , मैनेजमेंट के आदेश पे ही हम मरीजों का उपचार करते है/

    सी बी आई- शव घर के कर्मचारी ने बताया उस दिन वो काम पे नही था , फिर भी उसने डॉक्टर के बोलने पे सिग्नेचर किये?
    डॉक्टर- उनका कोई रोल नही होता बस ये एक औपचारिक हैण्डओवर था , जी बैक डेट मैं किया गया /

    बहुत बहुत धन्यवाद
    Last edited by sultania; 24-08-2020 at 09:58 AM.
    हकलाते हैं तो संस्कृत सीखें,जो व्यक्ति धाराप्रवाह बोल नहीं पाते, अटकते हैं या फिर हकलाते हैं उन्हें संस्कृत सीखना चाहिए।संस्कृत से हकलाना भी खत्म हो जाता है।

  2. #62
    कांस्य सदस्य sultania's Avatar
    Join Date
    Sep 2011
    Location
    MAKERS OF DIFFRENT TYPE THRED
    Posts
    5,504
    कुवारी डिजाईनर विधवा का बदला रूप
    सुशांत ने उन्हें सपने मैं आके बताया चैनल पे जाओ और speak the thruth ?
    बस फिर क्या था , डिजाइनर विधवा का चोला फेक के कुवारी कन्या का westrn Top धारण कर पहुच गयी राजदीप सर के पास ।

    एक्चुल्ली रिया पूरी तरह खादी के जबड़े मैं फंस चुकी है /
    इस तरह की बाते की शुसांत ने सपने मैं आके बताया , उनके परिवार के बारे मे ग़लत बात बोली ।
    हकीकत तो ये है कि बली कि बकरी केवल रिया को बना के मगरमच्छ को बचाया जा रहा है , बयान ऐसे बनावटी तरीके से दिलाये गये की लोग ऊसे ही अपराधी समझे , मामला केवल रिया
    के आस पास फसा के समाप्त किया जाय ।


    सी बी आई के डर से आत्महत्या बताने वाले सारे पुलिस अफसर कोरिनटिन कर दिए गए है /
    कूपर के पोस्टमार्टम करने वाली टीम छुट्टी पे चली गयी है/

    इसमे क्या होगा केस मैं ?
    सारी बाते आपको पिछली पोस्टो मैं बता ही दी है/

    अरे भाई पब्लिक के माथे पे C नही लिखा है ।
    हकलाते हैं तो संस्कृत सीखें,जो व्यक्ति धाराप्रवाह बोल नहीं पाते, अटकते हैं या फिर हकलाते हैं उन्हें संस्कृत सीखना चाहिए।संस्कृत से हकलाना भी खत्म हो जाता है।

  3. #63
    कांस्य सदस्य sultania's Avatar
    Join Date
    Sep 2011
    Location
    MAKERS OF DIFFRENT TYPE THRED
    Posts
    5,504
    खादी पे लगे दाग कम हो रहे है , बचती जा रही है खादी ,
    खादी के जबड़े मैं फसी रिया अब बचने वाली नही , क्योंकि खादी रिया को अपने जबड़े मैं फंसा के रोज डेली धीरे -धीरे अपना मुंह बंद कर रही है , वक़्त ज्यादा नही बचा अब रिया के लिये/

    मुम्बई पोलिस , बिहार पुलिस , सुप्रीम कोर्ट , बिहार सरकार , मुम्बई सरकार ,ED , नारकोटिक्स विभाग सभी एक डॉन के पीछे पड़े है , इतनी जांच एजेंसियां वाह जी वाह /
    ऊपर से मीडिया कवरेज़ /

    स्क्रिप्ट के तहत नए मामले से सुशांत को रोज जोड़ा जा रहा है , इंसाफ के लिए नही , इंसाफ नही मिले इसलिए/

    सभी मामलो के केंद्र मैं रिया है?
    पर उसके आका कोन है ?
    आका गिरफ्त मैं ना आएंगे फिक्सिंग हो चुकी है /

    पहले खादी पे सुशान्त मामले मे काफी सवाल थे , घिर रही थी खादी , अब समय के साथ स्क्रिप्टेड तरीके से छोटी मछली पे सारा दोष साबित किया जाएगा/

    जांच एजेंसिया जब
    कोर्ट को चार्ज शीट सौपेगी , काफी मामले बन रहे है , इतने मामले रिया पे लादे जायेगे की रिया कभी जेल मे , कभी बेल मैं ,बाकी समय कोर्ट मे समय देते देते बूढ़ी हो जाएगी/

    आर्थिक स्थिति बेहद खराब हो चुकी है लेडी डॉन की hdfc बैंक को 17000 EMI चुकाने की हैसियत नही है , कही बैंक लोन रिकवरी के लिए फ्लेट जब्त ना कर ले / ऊपर से अभी कानूनी दावँ पेंच के लिये लाखों रुपये , भाई भी नल्ला बैठा है , ओर रहेगा भी , ओर ना ही अभी कोई लिव रिलेसन मैं रिया को अपने साथ रखके पब्लिक के टारगेट मैं आयेगा , ना ही कोई उसे पैसे देगा , कहानी ख़त्म हो चुकी है रिया की , जबकि मामला अभी पूरी तरह से पेंडिंग है/

    इस केस मैं केवल फंसी पड़ी है मुम्बई पुलिस , जो खादी के सामने गिड़गिड़ा रही है आका हमे भी बचाओ , इज़्ज़त जा रही है /

    खादी मंद मंद मुसकी लेके बोल रही है , डरिये मत क्लाइमेक्स बाकी है , वहाँ आपको बचा लेगें/
    खादी की आपस मे बात बन चुकी है , अलग अलग विचारधारा वाले खादी दल , इस दल -दल मैं जाके एक दूसरे के लिये कमल का फूल खिला चुके है , बस आप देखते जाईये , कैसे केवल फसेगी रिया , ओर इस बात पे सुशांत को इंसाफ मिला ये बता के कैसे अपनी खुद की पीठ ठोकेगी ये पेड बिकी हुई मीडिया /

    बहुत बहुत धन्यवाद
    Last edited by sultania; 30-08-2020 at 08:38 AM.
    हकलाते हैं तो संस्कृत सीखें,जो व्यक्ति धाराप्रवाह बोल नहीं पाते, अटकते हैं या फिर हकलाते हैं उन्हें संस्कृत सीखना चाहिए।संस्कृत से हकलाना भी खत्म हो जाता है।

  4. #64
    कांस्य सदस्य sultania's Avatar
    Join Date
    Sep 2011
    Location
    MAKERS OF DIFFRENT TYPE THRED
    Posts
    5,504
    स्क्रिप्टेड कहानी के तहत खादी मुस्कराए जा रही है
    3 जांच एजेंसी भी क्या मुम्बई का तिलस्म नही तोड़ पायेगी?
    ई है बम्बई नगरिया तू देख बबुआ ?

    जांच अभी तक क्या हो रही है किसी को पता नही?
    क्या सामने आया कुछ पता नही?
    आत्महत्या से ड्रग ,दाऊद ,नेक्सएस खंगाले गए /
    ये सिर्फ मगरमच्छ को बचाने की कवायत है /

    बाकी स्क्रिप्ट के तहत केवल रिया ओर उसके दोस्तो पे केवल मुकदमा लाद के केस को रफा दफा किया जायेगा/

    आपको बता ही चुका हूं इस केस मैं जितनी भी जांच होगी सव रिया ओर उसके सहयोगी इसके केंद्र मैं होंगे /

    केस सेटल हो चुका है, पर रायता इतना फैला है कि समेटने मैं टाइम लग रहा है/

    बस चिंता सिर्फ मुम्बई पोलिस को सता रही है कि वो बदनामी से कैसे बाहर आये , क्लाइमेक्स जोरदार होगा मित्रों/

    बहुत बहुत धन्यवाद
    हकलाते हैं तो संस्कृत सीखें,जो व्यक्ति धाराप्रवाह बोल नहीं पाते, अटकते हैं या फिर हकलाते हैं उन्हें संस्कृत सीखना चाहिए।संस्कृत से हकलाना भी खत्म हो जाता है।

  5. #65
    कांस्य सदस्य superidiotonline's Avatar
    Join Date
    May 2017
    Posts
    6,318
    सुलतानिया जी, हमारी समझ में ये नहीं आ रहा है- ड्रग और बड्स खरीदने वालों के पीछे बड़ी-बड़ी एजेन्सियाँ क्यों पड़ी हैं? क्या आप इसपर कुछ प्रकाश डालेंगे?


  6. #66
    कांस्य सदस्य sultania's Avatar
    Join Date
    Sep 2011
    Location
    MAKERS OF DIFFRENT TYPE THRED
    Posts
    5,504
    Quote Originally Posted by superidiotonline View Post
    सुलतानिया जी, हमारी समझ में ये नहीं आ रहा है- ड्रग और बड्स खरीदने वालों के पीछे बड़ी-बड़ी एजेन्सियाँ क्यों पड़ी हैं? क्या आप इसपर कुछ प्रकाश डालेंगे?

    जनहित याचिका लगानी होगी भाई इसमे , मामला उलझ ओर टेढ़ा है /
    हकलाते हैं तो संस्कृत सीखें,जो व्यक्ति धाराप्रवाह बोल नहीं पाते, अटकते हैं या फिर हकलाते हैं उन्हें संस्कृत सीखना चाहिए।संस्कृत से हकलाना भी खत्म हो जाता है।

  7. #67
    कांस्य सदस्य superidiotonline's Avatar
    Join Date
    May 2017
    Posts
    6,318
    Quote Originally Posted by sultania View Post
    जनहित याचिका लगानी होगी भाई इसमे , मामला उलझ ओर टेढ़ा है /
    आधा-अधूरा प्रकाश डाला है आपने।

    अनीता जी कृपया आप आकर प्रकाश डालिए।

  8. #68
    कांस्य सदस्य sultania's Avatar
    Join Date
    Sep 2011
    Location
    MAKERS OF DIFFRENT TYPE THRED
    Posts
    5,504
    क्लाईमेक्स के पहले उलझते दिख रही मुम्बई पुलिस

    रायता जो फैलता ही जा रहा है, उसे सड़ाने का काम मुम्बई पुलिस कर रही है , क्या क्लाईमेक्स फिक्स करके बॉलीवुड फिल्मों की तरह लास्ट मैं मुम्बई पुलिस को बेदाग साबित किया जाएगा/
    देश कल सन्न रह गया जब मुम्बई पुलिस ने आरोपी रिया की कम्प्लेन स्वीकार कर तुरंत ही FIR दर्ज की /

    लाइव TV मैं देखा गया, रिया के थाने पहुचते ही थाने को आम पब्लिक के लिये बंद कर उनकी शिकायत 5घंटे सुन तुरंत ही FIr दर्ज कर ली/

    सुशांत ओर दिशा के मामले मे करोड़ो लोगो की आवाज के बाद भी Fir नही , जांच के बाद कुछ मिलेगा तो करेंगे , ओर यहां आरोपी जिस पे हुई Fir पे सुप्रीम कोर्ट भी मोहर लगा चुका है , इतनी आभगत करके बिना कोई जांच किये तुरन्त ही शिकायत को Fir मैं बदल के इंसाफ को बोना साबित कर दिया /
    छवि धूमिल हो चुकी है अब खादी ही किसी तरह छवि बचाएगी
    हकलाते हैं तो संस्कृत सीखें,जो व्यक्ति धाराप्रवाह बोल नहीं पाते, अटकते हैं या फिर हकलाते हैं उन्हें संस्कृत सीखना चाहिए।संस्कृत से हकलाना भी खत्म हो जाता है।

  9. #69
    कांस्य सदस्य superidiotonline's Avatar
    Join Date
    May 2017
    Posts
    6,318
    एनसीबी द्वारा रिया की गिरफ्तारी पर 'सुनता है भारत' वाले' इस तरह जश्न मना रहे हैं जैसे किला फतह कर लिया हो, जबकि सच्चाई यह है कि एसएसआर की संदिग्ध मौत पर अभी तक कोई सार्थक नतीजा सामने नहीं आया है। 'सुनता है भारत' ही कहूँगा मैं क्योंकि वे वही सुनाते हैं जो सुनाना चाहते हैं और जो उनके पसन्द की बात नहीं करता उसका वाल्यूम घटा दिया जाता है। दूसरे चैनलों के कवरेज पर सवाल खड़े करना 'सुनता है भारत' वालों का नाजायज हस्तक्षेप है। बिल्कुल समकक्ष दूसरों के धंधे में टाँग अड़ाना। दूसरे चैनल किस प्रकार अपना धंधा करेंगे इसमें टाँग अड़ाना 'सुनता है भारत' वालों का हक नहीं है। इस बारे में आपका क्या कहना है, सुलतानियाजी?

  10. #70
    कांस्य सदस्य sultania's Avatar
    Join Date
    Sep 2011
    Location
    MAKERS OF DIFFRENT TYPE THRED
    Posts
    5,504
    भाई मैं tv देखता ही नही , आप जिस प्राइवेट चेनल की बात कर रहे है तो इतना ही बोलना चाहूंगा कि सभी चेनल केवल बिजनस के लिये चेनल चलाते है, जहा प्रॉफिट दिखा वही लगा दिए/इनके दुवारा प्रस्तुत कोई भी साक्ष्य , संबंधित विषय के लिए राजमार्ग नही है , और न ही कोई कानूनी मोहर ।बस जनता को कस्टमर की तरह ट्रीट करना /
    हकलाते हैं तो संस्कृत सीखें,जो व्यक्ति धाराप्रवाह बोल नहीं पाते, अटकते हैं या फिर हकलाते हैं उन्हें संस्कृत सीखना चाहिए।संस्कृत से हकलाना भी खत्म हो जाता है।

Page 7 of 8 FirstFirst ... 5678 LastLast

Posting Permissions

  • You may not post new threads
  • You may not post replies
  • You may not post attachments
  • You may not edit your posts
  •