Page 8 of 8 FirstFirst ... 678
Results 71 to 73 of 73

Thread: आज का भारत केसा है? कैसे है उसे चलाने वाले ? और चल क्या रहा है?

  1. #71
    कांस्य सदस्य sultania's Avatar
    Join Date
    Sep 2011
    Location
    MAKERS OF DIFFRENT TYPE THRED
    Posts
    5,559
    क्लाईमेक्स मैं महाराष्ट्र सरकार पे जैकपोट घोड़ा हावी

    क्लाईमेक्स की रूप रेखा तैयार है , कंगना की वाइल्ड एंट्री हो चुकी है, हथ्यार बंद कमांडो के साथ वो ऐसे राजभवन जा रही है जैसे वो भारत मे कोई टॉप 10 vip हो /

    राणे साहब भाजपा पूर्व मुख्य मंत्री के साहबजादे भी खुल के दिशा के साथ मैदान मे आ गए है/

    पूर्व नो सैनिक पे शर्मनाक हरकत कर शिवसेना अपने सहयोगियों से भी घिर चुकी है /

    गुंडागर्दी नही चलेगी, फंस गई शिवसेना/

    मामला शुसांत की मौत के रहस्य से सत्ता पलट पे आ गया है /

    नई सत्ता पायी शिवसेना के लिये शुसांत की लीपापोती जांच काफी भारी पड़ी , लगभग बेइज़्ज़त हो चुकी है शिवसेना /

    कांग्रेस और एनसीपी उतनी मजबूती से शिवसेना के साथ नही दिख रहे/

    सत्ता का दुरुपयोग शिवसेना कर रही है किसी को डाउट नही ।
    संजय रावत जी लगातार सामना अखबार ओर मीडिया को गेर मर्यादित बयान जारी कर बेकनकाब हो गये है/

    जैकपोट घोड़े को मौका मिल गया है , सत्ता पलट का ,
    मुम्बई के कब्जे का /

    पब्लिक जहा 17 तारीख को एम्स के डॉक्टरों की शुशांत पे रिपोर्ट का इंतजार कर रही है , उधर खादी दलदल मैं कमल का फुल खिलाने मैं लगी है /

    जनता को दिखाने के लिये ड्रग पेडरर पकड़े जा रहे है , जैसे कि वो
    आज ही अस्तित्व मैं आये/

    सुशांत की जांच जनता की मांग थी , जिसपे राजनीति होके जैकपॉट घोड़े पे जा टिकी है/

    स्क्रिप्ट के तहत मीडिया , फ़िल्म इंडस्ट्री , खादी दल सभी अपना एजेंडा अपने हित मे चला रहे है/

    बेवकूफ बन गयी है जनता जो कि अभी तक कॅरोना से जूझ रही है कोई सुध लेने वाला तो दूर की बात कोई अब ये भी ना बता रहा कि करोना के मामलो मैं अब हम वर्ल्ड मैं 2 नम्बर ओर इसमे हुई मौत के मामले मैं हम 3 नंबर पे ओर लास्ट 15 दिन मैं सबसे ज्यादा मामले आने मैं 1 नंबर पे है/

    मोरिटीयम समाप्त हो चुका है , लूटी पिटी जनता बैंक को पैसे न दे पाएगी, Gdp लूटने के बाद बारी आ गयी है बैंक के धरासायी होने की /

    जनता का हाहाकार ओर उसपे फैला सुशांत का रायता
    ये ही चल रहा है आज के भारत मे/

    बहुत बहुत धन्यवाद
    हकलाते हैं तो संस्कृत सीखें,जो व्यक्ति धाराप्रवाह बोल नहीं पाते, अटकते हैं या फिर हकलाते हैं उन्हें संस्कृत सीखना चाहिए।संस्कृत से हकलाना भी खत्म हो जाता है।

  2. #72
    कांस्य सदस्य superidiotonline's Avatar
    Join Date
    May 2017
    Posts
    6,335
    सुल्तानिया जी की रिपोर्ट सही साबित हुई। पढ़िए समाचार-

    सुशांत केस में नया मोड़:CFSL को सुशांत की हत्या होने का कोई सुराग नहीं मिला, फांसी लगाने में दोनों हाथों का इस्तेमाल होने और पार्शियल हैंगिंग के सबूत मिले

    मुंबई2 घंटे पहले

    सूत्रों की माने तो सीएफएसएल विश्लेषण रिपोर्ट में पाया गया है कि सुशांत ने दोनों हाथ का इस्तेमाल कर फांसी लगाई होगी।
    इस रिपोर्ट का आधिकारिक ऐलान एक से दो दिन में सीबीआई की ओर से किया जा सकता है
    क्राइम सीन के रिक्रिएशन के बाद सीएफएसएल ने पाया कि सुशांत की मौत फांसी लगाने से हुई

    एक्टर सुशांत सिंह राजपूत की मौत की गुत्थी अब सुलझती नजर आ रही है। सीएफएसएल यानी सेंट्रल फॉरेंसिक साइंस लैब के सूत्रों के मुताबिक, सुशांत की मौत में किसी तरह का कोई फाउल प्ले नहीं मिला है। बांद्रा स्थित फ्लैट में क्राइम सीन के रिक्रिएशन के बाद सीएफएसएल ने पाया कि सुशांत की मौत फांसी लगाने से हुई थी। सीएफएसएल ने सीबीआई टीम को यह रिपोर्ट दे दी है। हालांकि, इसकी आधिकारिक पुष्टि एक से दो दिन में जांच एजेंसी की ओर से की जा सकती है।

    रिपोर्ट के मुताबिक, यह एक 'पार्शियल हैंगिंग'

    रिपोर्ट में इसे 'पार्शियल हैंगिंग' यानी पूर्ण फांसी नहीं कहा गया है। इसका मतलब होता है कि मृतक का पैर पूरी तरह से हवा में नहीं था। यानी वह जमीन से टच था या बेड या स्टूल जैसी किसी चीज से टिका हुआ था। बांद्रा स्थित फ्लैट में क्राइम सीन के रिक्रिएशन और पंखे से लटके कपड़े की स्ट्रेंथ टेस्टिंग के बाद सीएफएसएल ने इस रिपोर्ट को तैयार किया है।

    अपने दोनों हाथों का इस्तेमाल कर सुशांत ने लगाई फांसी

    सूत्रों की माने तो सीएफएसएल विश्लेषण रिपोर्ट में पाया गया है कि सुशांत ने एम्बीडेक्सट्रस यानी दोनों हाथ का इस्तेमाल कर फांसी लगाई होगी। उसने अपने दाहिने हाथ का इस्तेमाल खुद को लटकाने के लिए किया था। गले पर पड़े लिगेचर मार्क की गांठ की स्थिति का भी एनालिसिस रिपोर्ट में जिक्र है। राइट हैंडर ही इस तरह से फांसी लगा सकता है।​​​​​ रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि उनके कमरे से बरामद कपड़े का इस्तेमाल फांसी लगाने के लिए किया गया है।

    इन पॉइंट्स को सीएफएसएल ने अपनी रिपोर्ट में जोड़ा है

    एप्लाइड फोर्स की मात्रा: लटकने के बाद गर्दन पर किस मात्रा में फंदे का दबाव पड़ा था।
    ड्यूरेशन ऑफ अप्लाइड फोर्स: गर्दन पर फंदा कसने के कितनी देर तक शख्स जिंदा रहा।
    एरिया ऑफ अप्लाइड फोर्स: गले के कितने हिस्से पर फंदे का असर पड़ा।
    फोर्स डिस्ट्रीब्यूशन का एनालिसिस: अचानक लटकने के कारण गर्दन पर पड़े फोर्स का एनालिसिस।

    ----------
    Source: Dainik Bhaskar

  3. #73
    कांस्य सदस्य sultania's Avatar
    Join Date
    Sep 2011
    Location
    MAKERS OF DIFFRENT TYPE THRED
    Posts
    5,559
    फिर सूत्रों की खबर से सुशान्त का केस आत्महत्या की ओर मोड़ा

    सारे लगभग एक चैनल को छोड़ सभी चेनल फिर सूत्रों की खबर बता रहे है aims ने इसे आत्महत्या करार दे दिया है , सुधीर गुप्ता डॉक्टर के हवाले से सूत्रों की खबर/

    इस तरह के सारे सूत्र संदिग्ध मौत के 15 मिनट बाद से अभी पोस्ट
    लिखे जाने तक रोज सामने आ रहे है /

    सुशान्त ने आत्महत्या की सूत्रों की ख़बर/
    आत्महत्या का कारण काम ना मिलना सूत्रो की खबर /
    आत्महत्या का कारण बॉलीवुड मैं भाई भतीजावाद , सूत्रो की खबर/
    सुशान्त मानसिक रोगी था , सूत्रों की खबर/
    सुशान्त ड्रग एडिक्ट था, सूत्रों की खबर/
    सुशान्त के पिता ने 2 शादी की , सूत्रों की खबर/
    शुसांत की अपनी फेमली से नही बनती सूत्रो की खबर/
    सुप्रीम कोर्ट बिहार की fir रद्द करेगा , सूत्रो की खबर /
    सी बी आई जांच बिहार की fir पे ना होगी सूत्रो की खबर/
    सी बी आई को जांच मैं कुछ नही मिलेगा , सूत्रों की खबर/

    लगातार फेल होती जा रही सूत्रो की खबर ने इस बार एम्स के जरिये सुशान्त की संदिग्ध मौत पे सवाल पूछने वालो को करारा सूत्र दिया है/
    जबकि सच ये है कि सी बी आई के लिये एम्स रिपोर्ट जांच का सिर्फ एक पार्ट है , बहुत सारे पार्ट मिलके कोई भी केस की दिशा तय करते है /
    एम्स सी बी आई से भी ऊपर?
    पहली बार सुना है किसी भी देश के मेडिकल इंस्टिट्यूट ने ये बताया हो कि अमुक शख्स ने आत्महत्या की है , डॉक्टर का काम ये बताना होता है कि मौत कैसे हुई ?
    अब मोत कैसे हुई उस मेडिकल रिपोर्ट के आधार पे जांच एजेंसी इंवेस्टिगेट करती है कि कही इस मोत मैं कोई साजिश तो नही , कही मोत को आत्महत्या साबित करने के लिये कोई प्रपंच तो नही रचा गया/
    ये काम डॉक्टरों का नही सी बी आई का है /
    कोई डॉक्टर ये नही बोल सकता कि मृतक ने आत्महत्या की है , ये
    कथित सूत्रों की खबर अगर सही है तो ये विश्व इतिहास मे ऐसी पहली घटना होगी जहां डॉक्टरों ने ऐसी स्टेटमेंट जारी की है/

    लगता है क्लाईमेक्स मैं मुम्बई पोलिस को बचाने का सर्वश्रेष्ठ फार्मूला ढूंढ लिया गया है ।

    इतने सारे सवाल है मौत पे जिनका कोई साईंटिफिक जवाब ना मिल रहा , सिर्फ सूत्रों की खबर चल रही है /

    मुम्बई पोलिस कमिश्नर कल तुरन्त स्टेटमेंट देने आ जाते है वो भी सूत्रों की खबर पे , अभी तक जांच के विषय मे तो किसी को कुछ नही बताया, कल मुस्कराते हुये सूत्रो की खबर पे अज्ञात सूत्रो से मोहर लगा रहे थे /

    रायता फैला पड़ा है आस्मिक मोत पे ,

    सिर्फ इतना बोलना है कि लोग पूर्वाग्रह छोड़ के एक मोत पे पिता के दुवारा मांगे इंसाफ को आगे ले के जाये , ये तो मौलिक अधिकार
    है दोस्तो , आस्मिक मोत पे परिजन केवल शक के आधार पे भी आरोपित बना सकते है , Fir कर सकते है /

    इस केस मैं सबसे खराब बात ये हुई कि मौलिक अधिकारों को कुचला गया, पीड़ित से कोई हमदर्दी नही /

    ड्रग किसके लिये मंगवाई
    सुशान्त के लिये?
    भाई से ड्रग किसके लिये
    मगवाई
    सुशान्त के लिये?
    पिताजी माताजी के फोन से ड्रग क्यो मंगवाई?
    सुशान्त के लिये?
    ड्रग पेडरर जो आंतकवादी संगठनो से तालुक रखते है लगातार संपर्क क्यो किया ?
    सुशान्त के लिये?

    ये सब शायद बिल्कुल गलत है , ऐसा होना शायद अमानवीय है?
    कुछ लोग सही भी समझ सकते है/


    इस बार सूत्रों की खबर ने सुशान्त के इंसाफ मिलने की मुहिम को जोरदार चोट पहुचाने की कोशिश ज
    की है , अब केवल सी बी आई कि खामोशी टूटने का इंतज़ार है/

    बहुत बहुत धन्यवाद
    हकलाते हैं तो संस्कृत सीखें,जो व्यक्ति धाराप्रवाह बोल नहीं पाते, अटकते हैं या फिर हकलाते हैं उन्हें संस्कृत सीखना चाहिए।संस्कृत से हकलाना भी खत्म हो जाता है।

Page 8 of 8 FirstFirst ... 678

Posting Permissions

  • You may not post new threads
  • You may not post replies
  • You may not post attachments
  • You may not edit your posts
  •