Page 1607 of 1608 प्रथमप्रथम ... 60711071507155715971605160616071608 LastLast
Results 16,061 to 16,070 of 16071

Thread: हंसी के फव्वारे

  1. #16061
    हास्य साम्राज्ञी Neelima's Avatar
    Join Date
    Jun 2009
    प्रविष्टियाँ
    37,768
    Rep Power
    50
    बीवी पति के साथ मंदिर गयी

    ... और मन्नत का धागा बांधके मन्नत मांगी,

    फिर हड़बड़ाई और धागा खोल दिया

    पति- क्या हुआ, धागा क्यों खोला ?

    पत्नी- मैंने मन्नत मांगी थी कि,

    आपकी ज़िंदगी की तमाम मुश्किल दूर हो जाएं

    ... फिर अचानक खयाल आया, कहीं मैं ही न निपट जाऊं

  2. #16062
    हास्य साम्राज्ञी Neelima's Avatar
    Join Date
    Jun 2009
    प्रविष्टियाँ
    37,768
    Rep Power
    50
    पत्नी सर्दी जुकाम बुखार से परेशान थी तो पति ने सोचा आज मैं ही चाय बनाकर पिला देता हूँ.....

    पति-अरे भाग्यवान सारा किचेन छान मारा कहाँ रखा है चाय पत्ती का डिब्बा?

    पत्नी- तुम मर्दों को कोई काम कह दो तो जैसे पहाड़ टूट पड़ता है, सामने पड़ी चीज़ नज़र ही नहीं आती, वो बर्तनों वाली अलमारी खोलो, उसके मिर्च मसाले वाले खानों में जो बोर्नविटा का डिब्बा पड़ा है, जिसपर नमक लिखा है, उसमें चाय की पत्ती है.

  3. #16063
    हास्य साम्राज्ञी Neelima's Avatar
    Join Date
    Jun 2009
    प्रविष्टियाँ
    37,768
    Rep Power
    50
    पति : मैं बहुत थक गया हूँ, ज़रा चाय बना दो न ।

    पत्नी : अभी बनातीं हूँ , उसमें अदरक डालूँ क्या ? सर्दी पड़ रही है थोड़ी सी ????

    पति : हाँ।

    पत्नी : तुलसी का पत्ता भी डालूँ क्या ? बरसाती वायरस से बचाती है ?

    पति : हाँ ठीक है , डाल दे ।

    पत्नी : चाय मसाला डालूँ क्या ? टेस्ट आ जायेगा ?

    पति : चलेगा।

    पत्नी : पुदीना भी डाल दूँ ? आपका पेट खराब नहीं होगा ?

    पति : एक काम कर राई , जीरा , हींग , हल्दी, सरसौं , गरम मसाला , लहसुन .....सब डाल दे,

    उसमें तड़का लगा दे, ऐसी की तेसी कर दे चाय की..

    और

    मेरे मुंह में कुप्पी लगा के ठूंस भी दे,

    पता नहीं कौन से कॉलेज की होम साइंस की पुतलीबाई...टिका दी ससुर जी ने !

  4. #16064
    कांस्य सदस्य superidiotonline's Avatar
    Join Date
    May 2017
    प्रविष्टियाँ
    5,223
    Rep Power
    8
    Quote Originally Posted by Neelima View Post
    शादी की 25वीं सालगिरह पर पत्नी पुलकित होकर पति से लिपटते हुवे बोली:

    "आप बिलकुल भी नहीं बदले। वैसे के वैसे ही भोले-भाले,वैसे ही शांत, एकदम पहले जैसे ही हैं।"

    पति भी भावुक होकर बोल उठा:-

    जो रहीम उत्तम प्रकृति, का करि सकत कुसंग।

    चन्दन विष व्यापत नहीं, लिपटे रहत भुजंग।।"

    पति सरस्वती शिशु मंदिर का छात्र था।

    पत्नी English Medium Convent educated थी

    खुश होकर चाय पकौडे़ बनाने चली गयी!
    Pmpl..... Rotfl.......

  5. #16065
    कांस्य सदस्य superidiotonline's Avatar
    Join Date
    May 2017
    प्रविष्टियाँ
    5,223
    Rep Power
    8
    Quote Originally Posted by Neelima View Post
    पत्नी सर्दी जुकाम बुखार से परेशान थी तो पति ने सोचा आज मैं ही चाय बनाकर पिला देता हूँ.....

    पति-अरे भाग्यवान सारा किचेन छान मारा कहाँ रखा है चाय पत्ती का डिब्बा?

    पत्नी- तुम मर्दों को कोई काम कह दो तो जैसे पहाड़ टूट पड़ता है, सामने पड़ी चीज़ नज़र ही नहीं आती, वो बर्तनों वाली अलमारी खोलो, उसके मिर्च मसाले वाले खानों में जो बोर्नविटा का डिब्बा पड़ा है, जिसपर नमक लिखा है, उसमें चाय की पत्ती है.
    Pmpl... Rotfl........

  6. #16066
    कांस्य सदस्य superidiotonline's Avatar
    Join Date
    May 2017
    प्रविष्टियाँ
    5,223
    Rep Power
    8
    Quote Originally Posted by Neelima View Post
    पति : मैं बहुत थक गया हूँ, ज़रा चाय बना दो न ।

    पत्नी : अभी बनातीं हूँ , उसमें अदरक डालूँ क्या ? सर्दी पड़ रही है थोड़ी सी ????

    पति : हाँ।

    पत्नी : तुलसी का पत्ता भी डालूँ क्या ? बरसाती वायरस से बचाती है ?

    पति : हाँ ठीक है , डाल दे ।

    पत्नी : चाय मसाला डालूँ क्या ? टेस्ट आ जायेगा ?

    पति : चलेगा।

    पत्नी : पुदीना भी डाल दूँ ? आपका पेट खराब नहीं होगा ?

    पति : एक काम कर राई , जीरा , हींग , हल्दी, सरसौं , गरम मसाला , लहसुन .....सब डाल दे,

    उसमें तड़का लगा दे, ऐसी की तेसी कर दे चाय की..

    और

    मेरे मुंह में कुप्पी लगा के ठूंस भी दे,

    पता नहीं कौन से कॉलेज की होम साइंस की पुतलीबाई...टिका दी ससुर जी ने !
    Pmpl... Rotfl..........

  7. #16067
    हास्य साम्राज्ञी Neelima's Avatar
    Join Date
    Jun 2009
    प्रविष्टियाँ
    37,768
    Rep Power
    50
    एक बहुत गरीब वृद्ध आदमी था जो गुब्बारे बेचता था लेकिन उसके गुब्बारों को कोई खरीदता नहीं था। वो रोज थका हारा खाली हाथ अपने घर आता था। उसका टूटा-फूटा सा घर पुलिस थाने के पीछे पड़ता था।

    वो अपने काम पर जाने से पहले हर रोज एक पर्ची लिखकर और उस पर्ची को गुब्बारे में डाल कर भगवान को भेजता था।

    वो पर्ची में एक बात रोज लिखता था कि हे भगवान! मेरे पास खाने को भी कुछ नही रहता, मुझे 50 हजार रुपए कैसे भी दे दीजिए, मैं आपका बहुत ही शुक्रगुजार रहूंगा।

    ये पर्ची लिखा हुआ गुब्बारा हर रोज पुलिस थाने से ऊपर से गुजरता और पुलिसकर्मी रोज उस गुब्बारे को फोड़ पर्ची पढ़ते और उस वृद्ध की नासमझी पर मज़ाक उड़ाते लेकिन उन्हें उस वृद्ध पर बहुत दया भी आती थी।

    एक बार सारे पुलिसकर्मी ने निश्चय किया कि क्यों ना, थोड़े-थोड़े पैसे इकट्ठा करके हम इस वृद्ध की इच्छा को पूरी करदे और ये रोज-रोज का झंझट भी खत्म हो जाये। सभी पुलिसकर्मियों ने मिलकर 25 हजार रुपये का चंदा इकट्ठा किया।

    एक दिन शाम को सभी पुलिसकर्मी उस वृद्ध के घर गए और उसे इकट्ठे किये गए 25 हजार रुपये उस वृद्ध को सौंप दिए और बिना कुछ कहे ही वो वापस थाने चले आये। वृद्ध 25 हजार रुपये पाकर बहुत खुश हुआ।

    अगले दिन सुबह हुई और सभी पुलिस कर्मी निश्चय थे कि अब कोई गुब्बारा नहीं आएगा लेकिन हुआ बिल्कुल उल्टा। एक गुब्बारा रोज की तरह उड़ता हुआ आया। पुलिसकर्मी को बहुत उत्सकता थी कि आज उसने क्या लिखा होगा।

    जैसे ही गुब्बारा फोड़ के पर्ची निकाल कर पढ़ा तो सबके होश उड गए। पर्ची में लिखा हुआ था-

    "हे प्रभु! आपके भेजे हुए पैसे तो मिल गए लेकिन आपको इन पुलिसवालो के हाथों से नहीं भेजना था।

    इन कमीनो ने कमीशन काट के 25 हजार रुपये ही दिए।"

  8. #16068
    हास्य साम्राज्ञी Neelima's Avatar
    Join Date
    Jun 2009
    प्रविष्टियाँ
    37,768
    Rep Power
    50
    एक वकील और एक लड़की एक दूसरे के बगल में बैठे थे।वकील ने लड़की से पूछा कि क्या वह गेम खेलना चाहेगी।

    लड़की थकी हुई थी,सोना चाहती थी,उसने सीधा-सीधा मना कर दिया और खिड़की की तरफ घूम कर सोने लगी लेकिन फिर वकील साहब कहने लगे कि गेम अच्छा है इसे खेलने में बड़ा मजा आएगा। उन्होंने उसे समझाया कि अगर तुम हार गई तो तुम्हें $5 देने पड़ेंगे और तुम्हें मानना पड़ेगा कि मैं एक अच्छा वकील हूं।

    लेकिन दोबारा लड़की ने मना कर दिया और सोने लगी।

    फिर से वकील ने कहा अच्छा ठीक है,अगर तुम्हें आंसर नहीं आएगा तो तुम $5 दे देना अगर मुझे नहीं आएगा तो मैं तुम्हें $500 दूंगा।

    $500 सुनते ही लड़की की नींद खुल गई लड़की सोच भी रही थी की इस बहस को जल्दी से खत्म किया जाए लड़की ने कहा ठीक है अच्छा पूछो।

    वकील साहब ने अपना पहला सवाल दागा की बताओ धरती की चांद से दूरी कितनी है। लड़की ने कुछ नहीं कहा अपनी जेब से $5 निकाले और वकील को दे दिए।

    अब लड़की की बारी थी लड़की ने कहा बताओ ऐसी कौन सी चीज है जो तीन पैरों पर तो पहाड़ पर चढ़ती है पर पहाड़ से चार पैर पर उतरती है।

    अब वकील साहब पड़े चक्कर में,बहुत देर तक सोचते रहे-सोचते रहे,जब समझ में नहीं आया तब अपना लैपटॉप खोला,लैपटॉप पर सब कुछ छान मारा कुछ नहीं मिला। इंटरनेट पर खोजने का ट्राई किया,कुछ नहीं मिला,अपने साथ काम करने वाले साथियों से पूछा कुछ नहीं मिला। अपने सीनियर से पूछा कुछ नहीं मिला,अपने गुरु से पूछा फिर भी कुछ नहीं मिला,गुस्से में आकर दोस्तों को फोन किया फिर भी कुछ नहीं मिला।आखिर हार मानते हुए उन्होंने $500 लड़की को दे दिए।

    लड़की बोली'थैंक यू अब मैं सोने जा रही हूं।'

    अब वकील साहब सकते में , लड़की को उठाया और बोले इसका आंसर बताओ,लड़की कुछ नहीं बोली अपनी जेब से $5 का नोट निकाला और वकील साहब को दे दिया और सो गई।

  9. #16069
    कांस्य सदस्य superidiotonline's Avatar
    Join Date
    May 2017
    प्रविष्टियाँ
    5,223
    Rep Power
    8
    Quote Originally Posted by Neelima View Post
    एक वकील और एक लड़की एक दूसरे के बगल में बैठे थे।वकील ने लड़की से पूछा कि क्या वह गेम खेलना चाहेगी।

    लड़की थकी हुई थी,सोना चाहती थी,उसने सीधा-सीधा मना कर दिया और खिड़की की तरफ घूम कर सोने लगी लेकिन फिर वकील साहब कहने लगे कि गेम अच्छा है इसे खेलने में बड़ा मजा आएगा। उन्होंने उसे समझाया कि अगर तुम हार गई तो तुम्हें $5 देने पड़ेंगे और तुम्हें मानना पड़ेगा कि मैं एक अच्छा वकील हूं।

    लेकिन दोबारा लड़की ने मना कर दिया और सोने लगी।

    फिर से वकील ने कहा अच्छा ठीक है,अगर तुम्हें आंसर नहीं आएगा तो तुम $5 दे देना अगर मुझे नहीं आएगा तो मैं तुम्हें $500 दूंगा।

    $500 सुनते ही लड़की की नींद खुल गई लड़की सोच भी रही थी की इस बहस को जल्दी से खत्म किया जाए लड़की ने कहा ठीक है अच्छा पूछो।

    वकील साहब ने अपना पहला सवाल दागा की बताओ धरती की चांद से दूरी कितनी है। लड़की ने कुछ नहीं कहा अपनी जेब से $5 निकाले और वकील को दे दिए।

    अब लड़की की बारी थी लड़की ने कहा बताओ ऐसी कौन सी चीज है जो तीन पैरों पर तो पहाड़ पर चढ़ती है पर पहाड़ से चार पैर पर उतरती है।

    अब वकील साहब पड़े चक्कर में,बहुत देर तक सोचते रहे-सोचते रहे,जब समझ में नहीं आया तब अपना लैपटॉप खोला,लैपटॉप पर सब कुछ छान मारा कुछ नहीं मिला। इंटरनेट पर खोजने का ट्राई किया,कुछ नहीं मिला,अपने साथ काम करने वाले साथियों से पूछा कुछ नहीं मिला। अपने सीनियर से पूछा कुछ नहीं मिला,अपने गुरु से पूछा फिर भी कुछ नहीं मिला,गुस्से में आकर दोस्तों को फोन किया फिर भी कुछ नहीं मिला।आखिर हार मानते हुए उन्होंने $500 लड़की को दे दिए।

    लड़की बोली'थैंक यू अब मैं सोने जा रही हूं।'

    अब वकील साहब सकते में , लड़की को उठाया और बोले इसका आंसर बताओ,लड़की कुछ नहीं बोली अपनी जेब से $5 का नोट निकाला और वकील साहब को दे दिया और सो गई।
    Pmpl.. Rotfl........

  10. #16070
    सदस्य anita's Avatar
    Join Date
    Jun 2009
    प्रविष्टियाँ
    33,953
    Rep Power
    300
    Quote Originally Posted by Neelima View Post
    एक वकील और एक लड़की एक दूसरे के बगल में बैठे थे।वकील ने लड़की से पूछा कि क्या वह गेम खेलना चाहेगी।

    लड़की थकी हुई थी,सोना चाहती थी,उसने सीधा-सीधा मना कर दिया और खिड़की की तरफ घूम कर सोने लगी लेकिन फिर वकील साहब कहने लगे कि गेम अच्छा है इसे खेलने में बड़ा मजा आएगा। उन्होंने उसे समझाया कि अगर तुम हार गई तो तुम्हें $5 देने पड़ेंगे और तुम्हें मानना पड़ेगा कि मैं एक अच्छा वकील हूं।

    लेकिन दोबारा लड़की ने मना कर दिया और सोने लगी।

    फिर से वकील ने कहा अच्छा ठीक है,अगर तुम्हें आंसर नहीं आएगा तो तुम $5 दे देना अगर मुझे नहीं आएगा तो मैं तुम्हें $500 दूंगा।

    $500 सुनते ही लड़की की नींद खुल गई लड़की सोच भी रही थी की इस बहस को जल्दी से खत्म किया जाए लड़की ने कहा ठीक है अच्छा पूछो।

    वकील साहब ने अपना पहला सवाल दागा की बताओ धरती की चांद से दूरी कितनी है। लड़की ने कुछ नहीं कहा अपनी जेब से $5 निकाले और वकील को दे दिए।

    अब लड़की की बारी थी लड़की ने कहा बताओ ऐसी कौन सी चीज है जो तीन पैरों पर तो पहाड़ पर चढ़ती है पर पहाड़ से चार पैर पर उतरती है।

    अब वकील साहब पड़े चक्कर में,बहुत देर तक सोचते रहे-सोचते रहे,जब समझ में नहीं आया तब अपना लैपटॉप खोला,लैपटॉप पर सब कुछ छान मारा कुछ नहीं मिला। इंटरनेट पर खोजने का ट्राई किया,कुछ नहीं मिला,अपने साथ काम करने वाले साथियों से पूछा कुछ नहीं मिला। अपने सीनियर से पूछा कुछ नहीं मिला,अपने गुरु से पूछा फिर भी कुछ नहीं मिला,गुस्से में आकर दोस्तों को फोन किया फिर भी कुछ नहीं मिला।आखिर हार मानते हुए उन्होंने $500 लड़की को दे दिए।

    लड़की बोली'थैंक यू अब मैं सोने जा रही हूं।'

    अब वकील साहब सकते में , लड़की को उठाया और बोले इसका आंसर बताओ,लड़की कुछ नहीं बोली अपनी जेब से $5 का नोट निकाला और वकील साहब को दे दिया और सो गई।

    और ले पंगे लड़की से

    बड़ा वकील बन रहा था
    सभी उपस्थित मित्रो से निवेदन है फोरम पे कुछ न कुछ योगदान करे,अपनी रूचि के अनुसार किसी भी सूत्र में अपना योगदान दे सकते है,या फिर आप भी कोई नया सूत्र बना सकते है

Page 1607 of 1608 प्रथमप्रथम ... 60711071507155715971605160616071608 LastLast

Posting Permissions

  • You may not post new threads
  • You may not post replies
  • You may not post attachments
  • You may not edit your posts
  •