Page 16 of 16 प्रथमप्रथम ... 6141516
Results 151 to 157 of 157

Thread: यन्त्र-मन्त्र-तन्त्र

  1. #151
    कर्मठ सदस्य Aeolian's Avatar
    Join Date
    Feb 2014
    Location
    12banki
    प्रविष्टियाँ
    3,448
    Rep Power
    11

    Re: यन्त्र-मन्त्र-तन्त्र

    achhi jankari hai lekin rudvadta ka prachar bhi hai.

  2. #152
    सदस्य
    Join Date
    Jul 2013
    प्रविष्टियाँ
    241
    Rep Power
    7

    Re: यन्त्र-मन्त्र-तन्त्र

    हनुमान चालीसा एवं बजरंग बाण का चमत्कारHanumaan Chalisa Evam Bajarang Baan kaa Chamatkarआज हर व्यक्ति अपने जीवन मे सभी भौतिक सुख साधनो की प्राप्ति के लिये भौतिकता की दौड मे भागते हुए किसी न किसी समस्या से ग्रस्त है। एवं व्यक्ति उस समस्या से ग्रस्त होकर जीवन में हताशा और निराशा में बंध जाता है। व्यक्ति उस समस्या से अति सरलता एवं सहजता से मुक्ति तो चाहता है पर यह सब केसे होगा? उस की उचित जानकारी के अभाव में मुक्त हो नहीं पाते। और उसे अपने जीवन में आगे गतिशील होने के लिए मार्ग प्राप्त नहीं होता। एसे मे सभी प्रकार के दुख एवं कष्टों को दूर करने के लिये अचुक और उत्तम उपाय है हनुमान चालीसा और बजरंग बाण का पाठहनुमान चालीसा और बजरंग बाण ही क्यु ?क्योकि वर्तमान युग में श्री हनुमानजी शिवजी के एक एसे अवतार है जो अति शीघ्र प्रसन्न होते है जो अपने भक्तो के समस्त दुखो को हरने मे समर्थ है। श्री हनुमानजी का नाम स्मरण करने मात्र से ही भक्तो के सारे संकट दूर हो जाते हैं। क्योकि इनकी पूजा-अर्चना अति सरल है, इसी कारण श्री हनुमानजी जन साधारण मे अत्यंत लोकप्रिय है। इनके मंदिर देश-विदेश सवत्र स्थित हैं। अतः भक्तों को पहुंचने में अत्याधिक कठिनाई भी नहीं आती है। हनुमानजी को प्रसन्न करना अति सरल हैहनुमान चालीसा और बजरंग बाण के पाठ के माध्यम से साधारण व्यक्ति भी बिना किसी विशेष पूजा अर्चना से अपनी दैनिक दिनचर्या से थोडा सा समय निकाल ले तो उसकी समस्त परेशानी से मुक्ति मिल जाती है।“यह नातो सुनि सुनाइ बात है ना किसी किताब मे लिखी बात है, यह स्वयं हमारा निजी एवं हमारे साथ जुडे लोगो के अनुभत है।”उपयोगी जानकारीहनुमान चालीसा और बजरंग बाण के नियमित पाठ से हनुमान जी की कृपा प्राप्त करना चाहते हैं उनके लिए प्रस्तुत हैं कुछ उपयोगी जानकारी ..• नियमित रोज सुभह स्नान आदिसे निवृत होकर स्वच्छ कपडे पहन कर ही पाठ का प्रारम्भ करे।• नियमित पाठ में शुद्धता एवं पवित्रता अनिवार्य है।• हनुमान चालीसा और बजरंग बाण के पाठ करते समय धूप-दीप अवश्य लगाये इस्से चमत्कारी एवं शीघ्र प्रभाव प्राप्त होता है।• दीप संभव न होतो केवल ३ अगरबत्ती जलाकर ही पाठ करे।• कुछ विद्वानो के मत से बिना धूप से हनुमान चालीसा और बजरंग बाण के पाठ प्रभाव हिन होता है।• यदि संभव हो तो प्रसाद केवल शुद्ध घी का चढाए अन्य था न चढाए• जहा तक संभव हो हनुमान जी का सिर्फ़ चित्र (फोटो) रखे ।• यदि घर मे अलग से पूजा घर की व्यवस्था हो तो वास्तुशास्त्रके हिसाब से मूर्तिरखना शुभ होगा। नही तो हनुमान जी का सिर्फ़ चित्र (फोटो) रखे।• यदि मूर्तिहो तो ज्यद बडी न हो एवं मिट्टी कि बनी नही रखे।• मूर्तिरखना चाहे तो बेहतर है सिर्फ़ किसी धातु या पत्थर की बनी मूर्तिरखे।• हनुमान जी का फोटो/ मूर्तिपर सुखा सिंदूर लगाना चाहिए।• नियमित पाठ पूर्ण आस्था, श्रद्धा और सेवा भाव से की जानी चाहिए। उसमे किसी भी तरह की संका या संदेह न रखे।• सिर्फ़ देव शक्ति की आजमाइस के लिये यह पाठ न करे।• या किसी को हानि, नुक्सान या कष्ट देने के उद्देश्य से कोइ पूजा पाठ नकरे।• एसा करने पर देव शक्ति या इश्वरीय शक्ति बुरा प्रभाव डालती है या अपना कोइ प्रभाग नहि दिखाती! एसा हमने प्रत्यक्ष देखा है।• एसा प्रयोग करने वालो से हमार विनम्र अनुरोध है कृप्या यह पाठ नकरे।• समस्त देव शक्ति या इश्वरीय शक्ति का प्रयोग केवल शुभ कार्य उद्देश्य की पूर्ति के लिये या जन कल्याण हेतु करे।• ज्यादातर देखा गया है की १ से अधिक बार पाठ करने के उद्देश्य से समय के अभाव मे जल्द से जल्द पाठ कने मे लोग गलत उच्चारण करते है। जो अन उचित है।• समय के अभाव हो तो ज्यादा पाठ करने कि अपेक्षा एक ही पठ करे पर पूर्ण निष्ठा और श्रद्धा से करे।• पाठ से ग्रहों का अशुभत्व पूर्ण रूप से शांत हो जाता है।• यदि जीवन मे परेशानीयां और शत्रु घेरे हुए है एवं आगे कोइ रास्ता या उपाय नहीं सुझ रहा तो डरे नही नियमित पाठ करे आपके सारे दुख-परेशानीयां दूर होजायेगी अपनी आस्था एवं विश्वास बनाये रखे।

  3. #153
    रजत सदस्य Kamal Ji's Avatar
    Join Date
    Mar 2010
    प्रविष्टियाँ
    29,740
    Rep Power
    50

    Re: यन्त्र-मन्त्र-तन्त्र

    ना काहू सो दोस्ती , ना काहू सो बैर.
    [Only Registered and Activated Users Can See Links. Click Here To Register...]

    Disclaimer:All these pics have been collected from the internet and none is my own property. By chance,any of this is copyright, please feel free to contact me for its removal from the thread.

  4. #154
    नवागत crushh's Avatar
    Join Date
    Sep 2015
    Location
    new york
    प्रविष्टियाँ
    54
    Rep Power
    5
    जय श्री राम।

  5. #155
    कर्मठ सदस्य
    Join Date
    Jun 2015
    प्रविष्टियाँ
    3,307
    Rep Power
    8
    Quote Originally Posted by Shri Vijay View Post
    प्रिय बहन नीलीमा जी बहुजन हिताय,बहुजन सुखाय उपनिषद के ईस वाक्य को आप ने सार्थक कर दिया, अन्तर्वासना ( अंतरमन में छुपी हुई अदम्य इच्छाऐ ) ने भी इतने बेहतरीन सूत्रों को शामिल कर अपने नाम को सार्थक किया, मैने ईस सूत्र के सभी प्रष्टों को पढ़ा, यह अति गुढ़ विषय हें अत: सभी विद्वान मित्रों कि टिकाएँ भी पढ़ी, कीन्ही मित्रों को कोई बात तुरंत समज में आती हें, कीन्ही मित्रों को जरा देरसे, फोरम का अर्थ होता हें एक बड़ा परिवार और परिवार के सभी सदस्य सन्मानित और आदरणीय हें अत: मेरा सभी सदस्यों से एक नम्र अनुरोध हें ही कि किसी सदस्य कि बात पसंद ना आने पर ओछे (मुर्ख,गधे) विशेषणों द्वारा सन्मानित कर अपने आप को ओछा सबित न करे, स्वस्थ तर्क अवश्य करें परंतु कुतर्क वितर्क से बचे, परिवार के एक भी सदस्य का अपमान पुरे परिवार का अपमान होता हें,अत: ऐसे कार्यों से बचे,सभी नियामकों को प्रिय बहन नीलीमा जी एवं सभी सदस्यों को साधुवाद अगर मेरी बातों से किसीको ठेस पहुचीं होतो क्षमा चाहता हु ..... +++++ *****
    अति उत्तम बात कही है आपने .मै आपसे पूरी तरह से सहमत हूँ .

  6. #156
    वरिष्ठ सदस्य
    Join Date
    Jun 2016
    Location
    Ahmedabad, Gujarat.
    प्रविष्टियाँ
    883
    Rep Power
    4
    जय श्री राम
    जी हा में भी आप से पुरी तरह से सहमत हु।

  7. #157
    वरिष्ठ सदस्य
    Join Date
    Jun 2016
    Location
    Ahmedabad, Gujarat.
    प्रविष्टियाँ
    883
    Rep Power
    4
    जय श्री राम
    नीलीमाजी यह जो आपने मंत्र और यंत्र बताये है उसे करने के लिये तो शास्त्र में कहा गया है की गुरु की परम आवश्यकता है। अगर आपके कोई गुरु नही है तो क्या यह मंत्र जप या कोई कवच का पाठ कर सकते है। ईस विषय पर चर्चा करे तो अच्छा रहेगा।

Page 16 of 16 प्रथमप्रथम ... 6141516

Thread Information

Users Browsing this Thread

There are currently 1 users browsing this thread. (0 members and 1 guests)

Tags for this Thread

Bookmarks

Posting Permissions

  • You may not post new threads
  • You may not post replies
  • You may not post attachments
  • You may not edit your posts
  •