loading...
Page 1 of 2 12 LastLast
Results 1 to 10 of 16

Thread: सम्भोग निषेध

  1. #1
    कांस्य सदस्य Rajat Vynar's Avatar
    Join Date
    Oct 2014
    प्रविष्टियाँ
    5,440
    Rep Power
    8

    Cool सम्भोग निषेध

    loading...
    स्त्री-पुरुष के बीच पारस्परिक आकर्षण, सृष्टि का एक अटल सत्य है। सृष्टि की रचना ही इस आकर्षण और मिलन पर निर्भर है इसलिए यह कहना उचित ही होगा कि महिला-पुरुष का संगम अगर सामाजिक, धार्मिक और पारिवारिक मान्यताओं के अनुसार किया जाए तो यह एक बेहद पवित्र घटनाक्रम है।
    [Only Registered and Activated Users Can See Links. Click Here To Register...]

    WRITERS are UNACKNOWLEDGED LEGISLATORS of the SOCIETY!

  2. #2
    कांस्य सदस्य Rajat Vynar's Avatar
    Join Date
    Oct 2014
    प्रविष्टियाँ
    5,440
    Rep Power
    8
    स्त्री-पुरुष का संगम :

    वे लोग जो धार्मिक मान्यताओं को समझते और उनका पालन करते हैं, वो ये जानते हैं कि बिना विवाह के स्त्री-पुरुष का संगम निकृष्ट कर्म माना जाता है।
    [Only Registered and Activated Users Can See Links. Click Here To Register...]

    WRITERS are UNACKNOWLEDGED LEGISLATORS of the SOCIETY!

  3. #3
    कांस्य सदस्य Rajat Vynar's Avatar
    Join Date
    Oct 2014
    प्रविष्टियाँ
    5,440
    Rep Power
    8
    वैवाहिक बंधन :

    हमारा समाज महिला और पुरुष के बीच संबंधों को तभी मान्यता देता है जब कि वे दोनों वैवाहिक बंधन में बंधे हों।
    [Only Registered and Activated Users Can See Links. Click Here To Register...]

    WRITERS are UNACKNOWLEDGED LEGISLATORS of the SOCIETY!

  4. #4
    कांस्य सदस्य Rajat Vynar's Avatar
    Join Date
    Oct 2014
    प्रविष्टियाँ
    5,440
    Rep Power
    8
    स्त्री-पुरुष के बीच संबंध :

    यूं तो विवाह पश्चात स्त्री-पुरुष के बीच संबंध को पूरी तरह शुभ और मान्यताओं के अनुरूप माना जाता है।

    हिन्दू एक धर्म नहीं बल्कि जीवन जीने का एक तरीका है, सफल जीवन और निर्बाधित खुशियों को प्राप्त करने के लिए बहुत जरूरी है हिन्दू परंपरा के अनुसार कार्य किया जाए। ब्रह्मवैवर्त पुराण के अनुसार कुछ ऐसे दिन भी हैं जिस दिन पति-पत्नी को किसी भी रूप में शारीरिक संबंध स्थापित नहीं करने चाहिए।

    आइए जानते हैं उन अशुभ दिनों के विषय में जब पति-पत्नी के मिलन को निषेध माना गया है-
    [Only Registered and Activated Users Can See Links. Click Here To Register...]

    WRITERS are UNACKNOWLEDGED LEGISLATORS of the SOCIETY!

  5. #5
    कांस्य सदस्य Rajat Vynar's Avatar
    Join Date
    Oct 2014
    प्रविष्टियाँ
    5,440
    Rep Power
    8
    १. अमावस्या

    शास्त्रों के अनुसार अमावस्या के दिन पति-पत्नी को एक दूसरे के साथ शारीरिक संबंध नहीं बनाने चाहिए। यह उनके विवाहित जीवन को नकारात्मक रूप से प्रभावित करता है।
    [Only Registered and Activated Users Can See Links. Click Here To Register...]

    WRITERS are UNACKNOWLEDGED LEGISLATORS of the SOCIETY!

  6. #6
    कांस्य सदस्य Rajat Vynar's Avatar
    Join Date
    Oct 2014
    प्रविष्टियाँ
    5,440
    Rep Power
    8
    २. पूर्णिमा की रात

    इसके अलावा पूर्णिमा की रात भी विवाहित दंपत्ति को एक दूसरे से अलग ही रहना चाहिए।
    [Only Registered and Activated Users Can See Links. Click Here To Register...]

    WRITERS are UNACKNOWLEDGED LEGISLATORS of the SOCIETY!

  7. #7
    कांस्य सदस्य Rajat Vynar's Avatar
    Join Date
    Oct 2014
    प्रविष्टियाँ
    5,440
    Rep Power
    8
    ३. संक्रांति

    संक्रांति का समय भी पति-पत्नी की नजदीकी का समय नहीं है। इस दौरान नजदीक आना उनके लिए हितकर नहीं है।
    [Only Registered and Activated Users Can See Links. Click Here To Register...]

    WRITERS are UNACKNOWLEDGED LEGISLATORS of the SOCIETY!

  8. #8
    कांस्य सदस्य Rajat Vynar's Avatar
    Join Date
    Oct 2014
    प्रविष्टियाँ
    5,440
    Rep Power
    8
    ४. निषिद्ध तिथियाँ

    तिथियों की बात करें तो चतुर्थी और अष्टमी तिथि पर भी विवाहित दंपत्ति को एक दूसरे से दूरी बनाए रखनी चाहिए।
    [Only Registered and Activated Users Can See Links. Click Here To Register...]

    WRITERS are UNACKNOWLEDGED LEGISLATORS of the SOCIETY!

  9. #9
    कांस्य सदस्य Rajat Vynar's Avatar
    Join Date
    Oct 2014
    प्रविष्टियाँ
    5,440
    Rep Power
    8
    ५. निषिद्ध वार

    पुराणों के अनुसार रविवार के दिन भी पति-पत्नी को एक दूसरे से दूर ही रहना चाहिए। शारीरिक संबंधों के लिए भी यह समय नहीं है।
    [Only Registered and Activated Users Can See Links. Click Here To Register...]

    WRITERS are UNACKNOWLEDGED LEGISLATORS of the SOCIETY!

  10. #10
    कांस्य सदस्य Rajat Vynar's Avatar
    Join Date
    Oct 2014
    प्रविष्टियाँ
    5,440
    Rep Power
    8
    ६. श्राद्ध या पितृ पक्ष

    श्राद्ध या पितृ पक्ष के दौरान भी पति-पत्नी को संबंध बनाने के विषय में नहीं सोचना चाहिए।
    [Only Registered and Activated Users Can See Links. Click Here To Register...]

    WRITERS are UNACKNOWLEDGED LEGISLATORS of the SOCIETY!

Page 1 of 2 12 LastLast

Thread Information

Users Browsing this Thread

There are currently 1 users browsing this thread. (0 members and 1 guests)

Bookmarks

Posting Permissions

  • You may not post new threads
  • You may not post replies
  • You may not post attachments
  • You may not edit your posts
  •