जयश्री राम, जैन साहब
बहुत ही ज्ञानवर्धक जानकारी मिली है आपसे। हमारे यहा गुजरात में एक मुनी हो गई जीनके लेख उस समय बहुत ही प्रसिद्ध थे। बाद में लोगो के आग्रह पर उन्होने तीन पुस्तके प्रकाशिक की थी। एक तंत्र, दुसरी मंत्र और तीसरी योग। उन्होने जैन धर्म में तंत्र के अंतर्गत काभी जानकारी उस किताब में बताई है। जैन तंत्र के बारे में अगर आपके पास एसी कोई जानकारी हो तो जरुर लिखियेगा।