Page 3 of 3 FirstFirst 123
Results 21 to 24 of 24

Thread: बिटकॉइन जैसा क्रिप्टोकरेंसी कैसे बनाएँ?

  1. #21
    कांस्य सदस्य superidiotonline's Avatar
    Join Date
    May 2017
    Posts
    6,611
    तो इस प्रकार पहली भारतीय क्रिप्टोकरेंसी का नाम 'डब्ल्यूआरएक्स' है। पाठकों के मन में यह प्रश्न ज़रूर उठ रहा होगा कि क्या किसी ने अभी तक किसी भारतीय मेमे कॉइन को लाँच किया या नहीं? तो इसका उत्तर है- हाँ। हुआ यह कि अन्तर्राष्ट्रीय ख्यातिप्राप्त उद्योगपति एलन मस्क ने मेमे कॉइन डॉगीकॉइन के पक्ष में एक ट्वीट किया तो देखते-देखते डॉगीकॉइन का भाव आसमान में चढ़ने लगा और कहा जाने लगा कि इसका भाव चाँद को भी छू लेगा। इस बात से झल्लाकर क्रिप्टोकरेंसी के विरोधी तथा यूट्यूब ख्यातिप्राप्त एक बिज़नेस कोच पुष्कर राज ठाकुर आका आदिल नख़वा ने मई, 2021 में अपने यूट्यूब चैनल पर अपने आपको भारत का सातोषी नाकामोटो घोषित करते हुए भारत का पहला मेमे क्रिप्टोकरेंसी 'डंकीकॉइन' लाँच करके मज़ाक उड़ाते हुए कहा कि इसका भाव चाँद नहीं, मंगल को छू लेगा। क्रिप्टोकरेंसी के विरोध में ज़ोरदार भाषण देकर आदिल नख़वा ने क्रिप्टोकरेंसी का भण्डाफोड़ कर दिया जिससे क्रिप्टोकरेंसी समर्थकों की हवा निकल गई। आदिल नख़वा ने दर्शकों के सामने अपने कम्प्यूटर स्क्रीन पर मात्र कुछ क्लिक करके 'डंकीकॉइन' लाँच कर दिया जिसका उन्हें मात्र 35 यूएस० डॉलर खर्च करना पड़ा। कहने का मतलब यह है कि यदि आपकी जेब में ढ़ाई-तीन हज़ार रूपए हैं तो आप भी अपना क्रिप्टोकरेंसी लाँच कर सकते हैं। उड़ गए न होश? आइए देखते हैं 'डंकीकॉइन' के लाँच वीडियो को यूट्यूब से-

  2. #22
    कांस्य सदस्य superidiotonline's Avatar
    Join Date
    May 2017
    Posts
    6,611

  3. #23
    कांस्य सदस्य superidiotonline's Avatar
    Join Date
    May 2017
    Posts
    6,611
    तो आपने देखा कि किस तरह मज़ाक मजाक में 'डंकीकॉइन' नामक मीम कॉइन लाँच करके आदिल नख़वा ने अरबों रूपया कमाने का फण्डा दर्शकों को सिखा दिया! इसे कहते हैं- हल्दी लगे न फिटकरी, रंग होय चोखा। हमें एक बात अच्छी तरह समझ में आ गई। वह यह कि नई क्रिप्टोकॉइन के अज्ञात और गुप्त प्रोमोटर अपनी पूरी कोशिश करेंगे कि उनकी क्रिप्टोकरेंसी का दाम आसमान को छूने लगे जिससे वे अपने वालेट में सुरक्षित क्रिप्टोकरेंसी को बेचकर खरबपति बन सकें। अतः हमने आनन-फानन में चौदह लाख चौहत्तर हज़ार नौ सौ बीस 'शिबा इनु' खरीद लिया जिसमें हमारा एक हजार रूपया खर्च हुआ। बताया जा रहा है कि वर्ष 2021 के अन्त तक एक 'शिबा इनु' का दाम एक यू०एस० डॉलर होगा। हमने गणित करके देखा कि अगर एक 'शिबा इनु' का दाम एक रूपया भी हो गया तो हमारी जेब में चौदह लाख चौहत्तर हज़ार नौ सौ बीस रूपया होगा और यदि एक डॉलर हो गया तो हमारी जेब में 12 करोड़ रूपया होगा। यदि नुकसान हुआ तो हमारा एक हजार रूपया ही जाएगा किन्तु ऐसा कभी नहीं होगा, क्योंकि 'शिबा इनु' के अज्ञात और गुप्त प्रोमोटर 'शिबा इनु' का दाम बढ़ाने के लिए अपनी पूरी ताक़त झोंक देंगे! बता दें कि जैसे ही हमने हज़ार रूपए का 'शिबा इनु' खरीदा, दो दिनों में उसका दाम घटकर नौ सौ रूपया हो गया और इस समय नौ सौ छत्तीस के आसपास चल रहा है। मतलब यह कि हम घाटे में चल रहे हैं किन्तु हम बिल्कुल नहीं घबड़ाए, क्योंकि यह उतार-चढ़ाव तो डेली ट्रेडिंग करके प्रॉफिट बुक करने वालों के कारण होता है। डेली ट्रेडिंग करके प्रॉफिट बुक करने वाले मात्र एक-दो प्रतिशत के मुनाफे पर ही अपनी क्रिप्टोकरेंसी बेचकर मुनाफा कमा लेते हैं, क्योंकि ये अपनी ट्रेडिंग में लाखों रूपया मूलधन झोंक देते हैं। उदाहरण के तौर पर तीन लाख रूपए की ट्रेडिंग पर एक प्रतिशत भी मुनाफा हुआ तो तीन हजार रूपया प्रतिदिन बन जाता है। इस प्रकार एक महीने में नब्बे हजार रूपया जेब में आ जाता है और फिर क्रिप्टोकरेंसी की ट्रेडिंग तो चौबीसों घण्टे चलती है। जब मौका लगा एक प्रतिशत मुनाफा कमाकर निकल लिए। दस प्रतिशत का तात्कालिक घाटा होने के बावजूद भी हमारी सेहत पर कोई फर्क नहीं पड़ा, क्योंकि हम डेली ट्रेडिंग करने वाले थोड़े ही हैं। हमने तो लाँग टाइम इन्वेस्टमेंट कर रखा है। जब १ डॉलर का भाव मिलेगा तभी बेचेंगे!

  4. #24
    कांस्य सदस्य superidiotonline's Avatar
    Join Date
    May 2017
    Posts
    6,611
    बता दें कि हमने रू० 0.000678 की दर से चौदह लाख चौहत्तर हज़ार नौ सौ बीस 'शिबा इनु' खरीदा है। यह इसलिए लिख दिया जिससे शहर में ढ़ाई लाख आशिक़ों वाली गर्लफ्रेंड रोज़ाना गुणा-भाग करके हमारा मुनाफा और घाटा निकालकर अपना टाइम पास करती रहे।

Page 3 of 3 FirstFirst 123

Posting Permissions

  • You may not post new threads
  • You may not post replies
  • You may not post attachments
  • You may not edit your posts
  •